बुधवार को बाल धोना चाहिए या नहीं, सुहागिन स्त्री को किस दिन बाल धोना चाहिए?

बुधवार को बाल धोना चाहिए या नहीं

बुधवार को बाल धोना चाहिए या नहीं? हिंदू धर्म शास्त्रों में दिन को लेकर कुछ ऐसे नियम बताए गए हैं। इसका पालन करने से घर में हमेशा सुख-शांति रहती है। सदियों से चली आ रही परंपराओं और रीति-रिवाजों को आज भी लोगों द्वारा पालन किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि विपरीत दिनों में किए गए कार्य से जीवन में कई प्रकार के समस्याओं का जन्म होता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

जो स्त्रियां और पुरुष इन मान्यताओं का पालन करते हैं और वह मानते हैं कि ऐसा सच में होता है, उनके लिए कुछ खास नियम यहां हम प्रस्तुत कर रहे हैं। इन्हीं नियमों में से एक यह भी है कि बुधवार को बाल धोना चाहिए या नहीं? सुहागिन स्त्री को किस दिन बाल धोना चाहिए?

सुहागिन स्त्री को किस दिन बाल धोना चाहिए?

ऐसी मान्यता है कि सप्ताह में कुछ खास दिनों में यदि सुहागिन महिलाएं अपना बाल धोती हैं तो इससे उनके जीवन में समस्याएं उत्पन्न होती है। उनके पति और परिवार के लिए यह अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि मंगलवार को, गुरुवार और शनिवार को स्त्रियों को बाल नहीं धोना चाहिए।

इसके अलावा अमावस्या, पूर्णिमा और एकादशी के दिन सुहागन स्त्रियों को बाल नहीं धोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इन दिनों में चंद्रमा उच्च या नीच स्थिति में होता है। चंद्रमा का प्रभाव हमारे मस्तिष्क पर पड़ता है। ऐसे में इन दिनों में सुहागिन स्त्रियों को बाल धोने से मना किया जाता है।

यह भी पढ़ें -   Vastu Tips for Bedroom: बिस्तर के नीचे इन चीजों को रखने से बिगड़ता है पति-पत्नी का रिश्ता

ऐसा माना जाता है कि जो स्त्री व्रत करती हैं, उन्हें भी बाल नहीं धोने चाहिए। यदि उन्हें बाल धोना है तो व्रत के पहले दिन ही बाल धो लेना चाहिए।

सोमवार को बाल धोना चाहिए या नहीं

स्त्रियों को सोमवार के दिन बाल नहीं धोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सुहागिन स्त्रियों को सोमवार को बाल नहीं धोना चाहिए। ऐसा करने से उनके घर की उन्नति में बाधा उत्पन्न होती है और पति का स्वास्थ्य का हमेशा खराब रहने लगता है।

उपाय – यदि कोई स्त्री सोमवार का व्रत करती है तो उनके लिए बाल धोना अनिवार्य होता है। ऐसी स्थिति में पलाश के फूलों को हाथों से मसलकर अपने बालों में लगाना चाहिए और फिर बाल धोना चाहिए।

मंगलवार को बाल धोना चाहिए या नहीं

मंगलवार को सुहागन स्त्रियों को बाल नहीं धोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में ऐसा करना बहुत ही अशुभ माना गया है। इससे मंगल की स्थिति स्त्रियों की कुंडली में खराब होती है।

उपाय – यदि आप मंगलवार के दिन बाल धोना चाहते हैं तो आंवले का रस या आंवले के चूर्ण का पेस्ट बनाकर उसे बालों में लगाएं और फिर बाल धो लें।

बुधवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं

बुधवार को बाल धोना बहुत ही शुभ माना जाता है। सुहागिन स्त्रियां बुधवार के दिन बाल धो सकती हैं। लेकिन जिन महिलाओं के छोटे भाई हैं उन्हें इस दिन बाल नहीं धोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में ऐसा माना जाता है कि बुधवार का अधिपति बुध ग्रह होते हैं और इनका संबंध छोटे भाई-बहनों से होता है। ऐसे में बुधवार के दिन बाल धोने से छोटे भाई-बहनों को दोष लगता है।

यह भी पढ़ें -   बुधवार को सांप देखना अच्छा होता है या बुरा, जानिए सांप देखने का मतलब

उपाय- यदि आप बुधवार के दिन बाल धोना ही चाहती हैं तो इस दिन आप तुलसी के चार पांच पत्ते लें। उन पत्तों को पहले अपने बालों में लगा लें और फिर बाल धोकर स्नान करें। ऐसा करने से छोटी भाई-बहनों पर दोष नहीं लगता है।

गुरुवार के दिन बाल धोना चाहिए या नहीं

सुहागिन स्त्रियों के लिए गुरुवार को भी बाल धोना वर्जित माना गया है। ऐसा माना जाता है कि वह गुरुवार के दिन यदि अपना बाल धोती हैं तो इससे पति की आयु कम होती है। संतान से संबंधित समस्याएं भी रहती हैं। इसके अलावा घर में बरकत नहीं रहती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, महिलाओं की कुंडली में बृहस्पति ग्रह पति का कारक ग्रह माना जाता है। इसलिए यदि सुहागिन महिलाएं गुरुवार के दिन अपना बाल धोती हैं तो इसका असर उनके पति और संतान पर पड़ता है और पति की उम्र कम होने लगती है। इसके अलावा उन्हें आर्थिक संकटों का भी सामना करना पड़ता है।

उपाय – यदि किसी स्त्री को बाल धोना आवश्यक है तो गुरुवार को बाल धोने से पहले थोड़ा सा बेसन लेकर उसमें हल्दी मिला लें और उसे बालों पर लगाकर फिर स्नान करें।

यह भी पढ़ें -   सरसों के तेल का दीपक जलाने के फायदे, व्यापार में उन्नति और धनवर्षा होती है

शनिवार के दिन बाल धोना चाहिए या नहीं

सुहागिन स्त्रियों को शनिवार को बाल नहीं धोना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में कहा गया है कि शनिवार का दिन शनिदेव का होता है और इस दिन बाल धोने से शनिदेव की कुदृष्टि घर-परिवार पर पड़ता है।

उपाय – यदि शनिवार के दिन बाल धोना पड़े तो शनिदेव की कुदृष्टि से बचने के लिए पहले अपने बालों में कच्चा दूध लगा लें। फिर बालों को धोकर स्नान करें। ऐसा करने से शनिदेव का प्रभाव नहीं पड़ेगा।

शुक्रवार और रविवार को बाल धोना चाहिए या नहीं

शादीशुदा महिलाओं को और सुहागिन स्त्रियों को शुक्रवार के दिन बाल धोना शुभ माना जाता है। इसके अलावा वह रविवार को भी अपना बाल धो सकती हैं।

उपाय – शुक्रवार या रविवार का व्रत है तो उस दिन बाल धोकर नहाने से पहले गुड़हल का फूल का रस लेकर पहले बालों में लगाना चाहिए। उसके बाद बाल धोकर नहाना चाहिए। इन उपायों को अपनाने से और दिन के हिसाब से बाल धोने से घर परिवार में शांति रहती है और यह महिलाओं के लिए लाभदायक होता है।

नोट – यह जानकारी धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। हमारा उद्देश्य सिर्फ आपको जानकारी उपलब्ध करवाना है। इस संबंध में विशेष जानकारी के लिए हमेशा संबंधित विशेषज्ञ से ही संपर्क करें।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।