स्टीफन हॉकिंग द्वारा दिये 10 प्रेरणादायक विचार जो आपका जीवन बदल देगी

महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग के दस विचार (Stephen Hawking inspiring ideas) जो किसी व्यक्ति का जीवन बदल सकता है। स्टीफन हॉकिंग का निधन बुधवार 14 मार्च 2018 को हुआ था। उन्होंने 76 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्हें Amyotrophic Lateral Sclerosis नाम की बीमारी थी। इस बीमारी की वजह से उनके शरीर का ज्यादातर हिस्सों ने काम करना बंद कर दिया था। लेकिन फिर भी हॉकिंग का दिमाग काम कर रहा था।

उसने अपने इसी दिमाग की बदौलत पिछले 55 सालों से दुनिया को कई अदभुद चीजों से रूबरू कराते रहे थे। हॉकिंग ने विज्ञान से जुड़ी 15 किताबें लिखीं। 1988 में आई उनकी एक पुस्तक ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ सबसे मशहूर रही थी। इस किताब की 1 करोड़ से ज्यादा पर्तियां बिकीं जो

इस ब्रह्मांड के बारे में स्टीफन (Stephen Hawking) ने कई थ्योरी दिये। इसके साथ ही उन्होंने कई प्रेरणादायक विचार भी कहे हैं जिन्हें अपने जीवन में उतारकर कोई भी व्यक्ति अपना जीवन को जीने लायक बना सकता है। स्टीफन हॉकिंग का दिमाग इतना तेज था कि उन्हें विज्ञान की कई जानकारियां हमेशा याद रहती थीं।

स्टीफन हॉकिंग के 10 सबसे उम्दा प्रेरणादायक विचार (Stephen Hawking inspiring ideas)-

  1. ब्रह्मांड से बड़ा और पुराना कुछ भी नहीं।
  2. हमें सबसे अधिक महत्व वाली काम करने का प्रयास करना चाहिए।
  3. चाहे जिंदगी जितनी ही कठिन लगे, आप हमेशा कुछ न कुछ कर सकते हैं और सफल हो सकते हैं।
  4. विज्ञान केवल तर्क का अनुयायी नहीं है, बल्कि रोमांस और जूनून का भी है।
  5. एक शून्य-गुरुत्वाकर्षण उड़ान अंतरिक्ष यात्रा की ओर पहला कदम है।
  6. यदि आप हमेशा गुस्सा करते हैं तो लोगों के पास आपके लिए समय नहीं रहेगा।
  7. हम सभी अलग हैं, लेकिन हम सभी में मानवता समायी है। पहले अपनाना और फिर उससे गुजारा करना ही इंसानों का स्वभाव होता है।
  8. मैं नहीं मानता कि जिन्हें लाइलाज बीमारी है और वे अत्यधिक पीड़ा में हैं, उन्हें अपना जीवन समाप्त करने का अधिकार होना चाहिए।
  9. भगवान सिर्फ पासा नहीं खेलते बल्कि कभी-कभी उसे ऐसी जगह फेंकते हैं कि वे दिखाई भी नहीं देते हैं।
  10. हम यहां क्यों हैं? हम कहां से आते हैं? परंपरागत रूप से ये फिलोसफी के सवाल हैं, लेकिन फिलोसफी मर चुकी है।

कहा जाता है कि स्टीफन हॉकिंग (Stephen Hawking inspiring ideas) ने अतंरिक्ष में वैज्ञानिकों को सिंगल भेजने से मना किया था। उनका कहना था कि अतंरिक्ष के प्राणी जिसे एलियन कहा जाता है वो खतरनाखक हो सकते हैं। उनका मानना था कि ऐसा करके हम बड़ा खतरा मोल ले रहे हैं।

Show comments

This website uses cookies.

Read More