देवशयनी एकादशी से चार महीने तक कोई भी शुभ कार्य नहीं होंगे

नई दिल्ली। मंगलवार से अगले चार महीनों तक कोई भी शुभ कार्य नहीं होंगे। इस दौरान शादी, गृह प्रवेश या अन्य कोई भी मांगलिक कार्य संपन्न नहीं होंगे। इस बार देवशयनी एकादशी मंगलवार को है। यानि मंगलवार से अगले 31 अक्टूबर तक कोई भी शुभ कार्य वर्जित रहेगा।

Read Also: क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन

ऐसा माना जाता है कि देव शयन के दौरान केवल देवी-देवताओं की आराधना, तपस्या, हवन-पूजन आदि कार्य होते हैं। इस अवधि के दौरान धार्मिक आयोजन, कथा, हवन, अनुष्ठान आदि करने का विशेष महत्व है। लेकिन इस अवधि में शादी-विवाह, गृह प्रवेश या कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है।

यह भी पढ़ें -   महाभारत के युद्ध में जब अर्जुन ने धोखे से अंगराज कर्ण का वध किया था

Read Also: गुजरात में 12 शेरों के बीच महिला ने दिया बच्चे को जन्म

आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। इसी दिन से भगवान विष्णु अगले चार महीने यानि आषाढ़ शुक्ल एकादशी से कार्तिक शुक्ल की एकादशी तक शयनकाल की अवस्था में रहते हैं।

Read Also: घर में इन पेड़ों को नहीं लगाना चाहिए

शास्त्रों में यह बताया गया है कि जब भगवान विष्णु शयन अवस्था में होते हैं तब कोई भी शुभ कार्य जैसे विवाह, जनेऊ, मुंडन, गृहप्रवेश नहीं कराना चाहिए क्योंकि इन कार्यों में भगवान का आशीर्वाद नहीं होता है, इसलिए इसे अपूर्ण व अशुद्ध माना जाता है। इस समय मकान यादि की नींव भी नहीं रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   जानिए कब है मकर संक्रांति और क्या हैं दान के नियम?

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

यहां प्रदर्शित चित्रों को अलग-अलग जगहों से लिया जाता है। इसपर हम दावा नहीं करते। इनपर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है।

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *