SSLC Full Form और एसएसएलसी की संपूर्ण जानकारी पढ़ें

SSLC Full Form in Hindi

SSLC Full Form in Hindi – एसएसएलसी को हिंदी में माध्यमिक विद्यालय छोड़ने का प्रमाण पत्र के रूप में जाना जाता है। दसवीं, 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद जब आप एक स्कूल से दूसरे स्कूल में या फिर स्कूल से कॉलेज में दाखिला लेना चाहते हैं तो वहां पर आपसे एक सर्टिफिकेट मांगा जाता है। इसी को SSLC Certificate कहा जाता है।

एक स्कूल से दूसरे स्कूल या कॉलेज में एडमिशन लेने के लिये यह सर्टिफिकेट बहुत जरूरी होता है। दक्षिण भारत के राज्यों में यह बहुत जरूरी सर्टिफिकेट होता है। लेकिन एसएसएलसी क्या है? SSLC का Full Form क्या होता है? इसकी जानकारी बहुत की कम लोगों को पता होता है।

यह भी पढ़ें -   अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस- जानिए क्यों मनाया जाता है महिला दिवस?
SSLC Full Form in Hindi

SSLC का Full Form होता है, Secondary School Leaving Certificate. इस Secondary School Leaving Certificate को हिंदी में माध्यमिक विद्यालय त्याग प्रमाण पत्र भी कहा जाता है। SSLC Certificate की जरूरत ज्यादातर भारत के दक्षिणी राज्यों में पड़ती है लेकिन उत्तर पूर्व भारत के बिहार, झारखंड और उड़ीसा जैसे राज्यों में भी यह सर्टिफिकेट दिया जाता है।

किसी स्टूडेंट्स के पास यदि एसएसएलसी सर्टिफिकेट (SSLC Certificate) है तो इसका मतलब समझा जाता है कि उसने Secondary Level तक शिक्षा प्राप्त कर ली है। यदि वह किसी अन्य संस्थान में एडमिशन लेना चाहता है तो Secondary School Leaving Certificate को वहां पर जमा करना होता है।

यह भी पढ़ें -   मोबाइल का आविष्कार किसने और कब किया था? पहला मोबाइल कौन सा था?
भारत में शिक्षा का वर्गीकरण

पहले भारत में शिक्षा का वर्गीकरण तीन भागों में किया गया था। प्राथमिक शिक्षा (Primary Education), माध्यमिक शिक्षा (), उच्च शिक्षा ()। लेकिन आज भारत में शिक्षा का वर्गीकरण चार तरीकों से किया गया है।

  • Play Group – यह शिक्षा का पहला पड़ाव है। यहां से शिक्षा की शुरुआत होती हैं। इस ग्रुप में  Nursery, K.G., L.K.G, U.K.G. आदि आते हैं।
  • Primary Group – ये शिक्षा का दूसरा भाग होता है।  इसमें कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के सभी class आते हैं।
  • Secondary Group – ये शिक्षा का तीसरा पड़ाव है। इस चरण में कक्षा 6 से 10 तक के class आते हैं।
  • High Secondary Group – ये सबसे बड़ा Secondary Group है। इसमें कक्षा 11 से 12 अथवा college के class आते हैं।
यह भी पढ़ें -   Kisan Samman Nidhi Yojana क्या है? कैसे इसका Benefit ले सकते हैं?
SSC Certificate और SSLC Certificate में अंतर

भारत के राज्यों में शिक्षा बोर्डों द्वारा SSC Certificate भी दिया जाता है। SSC को Secondary School Certificate भी कहा जाता है। वहीं कुछ राज्यों में SSL Certificate दिया जाता है। दोनों में बुनियादी तौर पर कोई अंतर नहीं है। दोनों ही सर्टिफिकेट ‘माध्यमिक स्कूल प्रमाणपत्र’ की श्रेणी में ही आते हैं।