डॉ साकेत रमण बने आचार्य भरत मुनि संचार शोध केंद्र के समन्वयक

मोतिहारी। महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी के आचार्य भरत मुनि संचार शोध केंद्र का समन्वयक, मीडिया अध्ययन विभाग के सहा. आचार्य व मीडिया गुरु डॉ. साकेत रमण को बनाया गया है। यह शोध केंद्र मीडिया एवं भारतीय संचार परम्परा केंद्रित उत्तर भारत का प्रथम संचार शोध केन्द्र है।

शोध केंद्र की स्थापना इसी वर्ष फरवरी माह में विश्वविद्यालय द्वारा की गई थी। डॉ. रमण को शोध केंद्र के समन्वयक बनाए जाने पर विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा ने अपनी शुभकामनाएं एवं सुभाशीष प्रदान किया।

डॉ. रमण ने बताया कि यह शोध केंद्र माननीय कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा की प्रेरणा से भारतीय संचार परम्परा के महत्तम व्यक्तित्वों पर केंद्रित वैयक्तिक अध्ययन कर संचार क्षेत्र में उनके अवदानों को रेखांकित करने को कटिबद्ध है। भारतीय संचार मीमांसा को केन्द्र, पुस्तक एवं शोध आलेखों के रूप में भी प्रकाशित कराएगा तथा बिहार एवं चंपारण केंद्रित पुरातन संचार उपयोगी अध्ययन कार्य के संपादन के साथ-साथ दो शोधार्थियों को पीएचडी भी कराएगा।

यह भी पढ़ें -   राजद नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव की तबीयत बिगड़ी, आईसीयू में हुए भर्ती

विश्वविद्यालय प्रशासन ने शोध केंद्र के पूर्व समन्वयक, मीडिया अध्ययन विभाग के डॉ. अंजनी कु. झा के स्थान पर डॉ. साकेत रमण को यह दायित्व प्रदान किया है। विश्वविद्यालय के ओएसडी एडमिन प्रो राजीव कुमार, प्रॉक्टर प्रो. प्रणवीर सिंह, डॉ नरेंद्र सिंह, जनसंपर्क अधिकारी शेफालिका मिश्रा, कुलपति जी की निज सचिव कविता जोशी, अनुभाग अधिकारी दिनेश हुड्डा एवं मीडिया अध्ययन विभाग के डॉ. अंजनी कुमार झा, डॉ. परमात्मा कुमार मिश्र, डॉ. सुनील घोडके, डॉ. उमा यादव ने शुभकामनाएं दी साथ मीडिया अध्ययन विभाग के विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों के बीच खुशी की लहर है।

यह भी पढ़ें -   कोरोनाकाल में शिक्षा की अवधारणा में महत्वपूर्ण परिवर्तन :- प्रो. कुलदीपचंद अग्निहोत्री