यात्रियों को जाना था मुंबई से यूपी, श्रमिक ट्रेन ने पहुंचा दिया उड़ीसा, जानिए पूरा मामला

श्रमिक ट्रेन

नई दिल्ली। देश भर में केंद्र सरकार की तरफ से चलाए जा रहे श्रमिक ट्रेन का अलग ही मामला सामने आया है। प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने वाला श्रमिक ट्रेन मुंबई से यूपी के गोरखपुर के लिए निकली लेकिन यूपी की जगह उड़ीसा के राउरकेला पहुंच गई।

बता दें कि 21 मई को मुंबई से गोरखपुर के लिए रवाना हुई इस ट्रेन को शॉर्टेस्ट रूट से गुजरना था। लेकिन रेलवे ने इसका रूट बदलकर काफी लंबा कर दिया और यह ट्रेन 8 राज्यों का चक्कर काटकर ओडिशा के राउरकेला पहुंच गई। देर होने का हवाला देते हुए रेलवे ने कहा कि भारी ट्रैफिक के कारण यह बदलाव किया गया है।

इन राज्यों को पार करते हुए गोरखपुर पहुंची ट्रेन

यह भी पढ़ें -   कोरोना लॉकडाउन: जानिए क्या पाबंदियां रहेंगी और किन कामों की होगी छूट?

इसी के चलते वसई रोड-गोरखपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन को अब बिलासपुर-झारसुगुडा-राउरकेला रूट पर डाइवर्ट करने का फैसला किया है। इस तरह यह ट्रेन अब इटारसी से बिलासपुर, चाम्पा, झारसुगुडा, राउरकेला, आद्रा, आसनसोल, जसीडीह, झाझा, क्यूल, बरौनी, सोनपुर, छपरा, सीवान होते हुए गोरखपुर पहुंचेगी। पहले इसे महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से होते हुए उत्तर प्रदेश पहुंचना था। लेकिन अब यह महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल, फिर झारखंड और उसके बाद बिहार होते हुए उत्तर प्रदेश पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें -   बिहार में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा, जानिए 1 जून से बिहार में क्या-क्या खुलेगा

अब तक 31 लाख से अधिक प्रवासी पहुंचाए गए घर

रेलवे के मुताबिक, कोरोना काल में हुए देशव्यापी लॉकडाउन के चलते रेलवे ने 1 मई से 2,317 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए 31 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का दावा किया है। रेलवे रिपोर्ट के अनुसार, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अब तक 31 लाख श्रमिकों में करीब 12 लाख लोग उत्तर प्रदेश, सात लाख से अधिक लोग बिहार, जबकि झारखंड और राजस्थान एक-एक लाख से अधिक अपने गृह राज्य पहुंचाए गए हैं।

यह भी पढ़ें -   जानें लॉकडाउन स्पेशल ट्रेन का शेड्यूल, पटना और बरौनी समेत 6 जगहों पर रूकेगी

भारत में कोरोना संक्रमित मरीज 125000 के पार

भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या एक लाख 25 हजार को पार कर गया है। भारत में कोरोना से अबतक 3000 से ज्यादा मौतें हो चुकी है। शनिवार को भारत में कोरोना के 6000 से ज्यादा नए मामले सामने आए।