मोदी कैबिनेट में फेरबदल की सुगबुगाहट तेज, कई मंत्रियों ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से खबरें आ रही थी कि केंद्र सरकार कैबिनेट का विस्तार कर सकती है। मोदी कैबिनेट से कई मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद बीजेपी और दिल्ली में अटकलें तेज हो गई हैं। हालांकि राजीव प्रताप रूडी और संजीव बालियान के कहा है कि उन्होंने पार्टी के आदेश पर इस्तीफा दिया है। राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि यह पार्टी की इच्छा है। मैं इसका पालन करूंगा।

केंद्रीय कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा, ‘पार्टी नेतृत्व का आदेश मिलते ही मैंने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है। यह सरकार में एक सामान्य प्रक्रिया है। इसके आगे मैं कुछ नहीं कह सकता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं और पार्टी के लिए काम करूंगा। यह पार्टी तय करेगी कि मुझे क्या जिम्मेदारी मिलेगी? पार्टी जो कहेगी, मैं वो करूंगा।’

पढ़ें- बीएस-3, लोगों ने खुद की जान जोखिम में डाली

इस्तीफा देने वाले मंत्रियों में केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी हैं। जब इस बारे में उनसे जब मीडिया ने बार-बार सवाल किया तो उन्होंने अपने ट्वीटर पर लिखा कि उन्होंने सवाल सुना ही नहीं, वे जवाब नहीं देंगी। अपने ट्वीटर पर उमा भारती ने लिखा कि कल से चल रही मेरे इस्तीफे के खबरों पर मीडिया ने प्रतिक्रिया पूछी। इसपे मैंने कहा कि मैंने ये सवाल सुना ही नहीं, न सुनूँगी, न जवाब दूंगी। /1

पढ़ें- आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं तो हो जाइए सावधान

इस्तीफे के बारे केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती ने इस्तीफे के सवाल पर कुछ भी बोलने से इंकार किया है। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि इसके लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह या अध्यक्ष जी जिसको नामित करे, वही बोल सकते हैं।

पढ़ें- व्हाट्सएप को टक्कर देने के लिए पेटीएम लाएगी मैसेजिंग सर्विस

मोदी कैबिनेट में पिछले तीन साल में अबतक का सबसे बड़ा फेरबदल हो रहा है। बिहार में जदयू के साथ सरकार बनाने के बाद से ही कैबिनेट विस्तार की बातें होने लगी थी। ऐसी अटकलें थी कि केंद्र सरकार कैबिनेट में जदयू के कुछ लोगों को जगह मिल सकती है। यह फेरबदल इसलिए भी अहम है कि पिछले काफी समय से देश में कोई स्थाई रक्षामंत्री नहीं है।

ऐसी भी अटकलें हैं कि देश को नया रेलमंत्री मिल सकता है। हालांकि यह कैबिनेट विस्तार के बाद ही पता चल पाएगा। लेकिन अटकलें है कि परिवहन मंत्री गडकरी को रेल मंत्रालय दिया जा सकता है और रेलवे को परिवहन मंत्रालय के साथ जोड़ा भी जा सकता है।

यह भी पढ़ें:

पढ़ें तीन तलाक को लेकर सुप्रीम कोर्ट क्या दिया निर्णय

जानें दीपक मिश्रा के उन कड़े फैसलों के बारे में

अन्ना ने लिखा पीएम मोदी को खत, बोले- लोकपाल पर फिर करूंगा आंदोलन


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *