गाय को बासी रोटी या जूठी रोटी खिलाने से क्या-क्या नुकसान होते हैं?

गाय को रोटी खिलाना

हिंदू धर्म में गाय को माता लक्ष्मी का रूप माना गया है। गाय की सेवा या पूजा करने से माता लक्ष्मी की पूजा जितना ही फल की प्राप्ति होती है। गाय को रोटी खिलाने की परंपरा भारतीय समाज में काफी पुराना है। पुराने समय से ही मनुष्य अपने जीवन की समस्याओं को दूर करने के लिए गाय को रोटी और गुड़ खिलाते रहे हैं। लेकिन गाय को रोटी कैसे खिलानी है और बासी रोटी गाय को खिलाना चाहिए या नहीं? बासी रोटी या जूठी रोटी गाय को खिलाने से क्या नुकसान होते हैं, आइए जानते हैं –

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
यह भी पढ़ें -   घर में इन पेड़ों को नहीं लगाना चाहिए
गाय को बासी या जूठी रोटी खिलाने के नुकसान

1. गाय को कभी भी बासी रोटी नहीं खिलानी चाहिए। ऐसा करना पाप माना गया है। यदि कोई व्यक्ति गाय को बासी रोटी खिलाता है तो वह अपने जीवन में कई समस्याओं से जूझता है और उन्हें गाय को रोटी खिलाने का पुण्य प्राप्त नहीं होता है।

2. गाय को रोटी खिलाना पुण्य माना जाता है, वहीं बासी रोटी खिलाना पाप माना जाता है। गाय को बासी रोटी खिलाने से अनावश्यक ही मृत्यु का शिकार होने का भय रहता है।

3. गाय को सूखी रोटी भी नहीं खिलानी चाहिए। रोटी के साथ चीनी या गुड़ रखकर खिलाने से सभी समस्याओं का निदान होता है। रोटी बनाते समय पहली रोटी गाय को खिलाने से हर काम में सफलता मिलती है।

यह भी पढ़ें -   पीरियड में गुरुवार का व्रत करना चाहिए या नहीं, इन बातों का रखें ध्यान

4. कभी भी गाय को जूठी रोटी या प्लेट में बची हुई रोटी नहीं खिलानी चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को जीवन में कई परिशानियों का सामना करना पड़ता है। शास्त्रों के अनुसार, गाय मे सभी देवी-देवताओं का वास होता है। गाय की पूजा करने से समस्त देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है।

5. गाय को रोटी के साथ गुड़ मिलाकर खिलाना पुण्य माना गया है। हिंदू धर्म के अनुसार, गाय की पूजा करने से विशेष लाभ मिलता है। रोटी और गुड़ के साथ-साथ गाय को पालक खिलाने से कुंडली में मौजूद नकारात्मक दोष दूर हो जाते हैं। पढ़िए – दूध में पानी मिलाकर पीने से क्या होता है?

यह भी पढ़ें -   देवशयनी एकादशी से चार महीने तक कोई भी शुभ कार्य नहीं होंगे
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।