प्यार की परिभाषा और छोटी सी आशा

प्यार की परिभाषा

प्यार की ऐसी परिभाषा है तू

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

आशा भी तूझसे है तो निराशा भी तू

 

लोग चाहे उलट-पलटकर गढ़ते हैं परिभाषाएं

पर मेरे अनकही किस्सों की अभिलाषा है तू

 

तू के भीतर अगर संपूर्ण मैं समाया है

तो मेरे भीतर समाया है तू

 

फिर कौन कहता है कि तू-तू है

और मैं-मैं हूं, ये दोनों ही तो हम हैं

 

मुझसे अलग होते हुए भी तो

मेरे भाव ही नहीं लफ्जों में भी समाया है तू

 

कहीं कोसों दूर बसा है मुझसे तू

लेकिन फिर भी हर पल मेरे पास रहता है तू

यह भी पढ़ें -   वक्त कुछ ऐसे बदला
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।