एन-95 मास्क को लेकर केंद्र सरकार ने जारी की चेतावनी, कोरोना फैलने से नहीं रोकता

एन-95 मास्क

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने एन-95 मास्क को लेकर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को चिट्ठी लिखकर चेतावनी जारी किया है। सरकार के अनुसार, लोग सांस लेने वाले छिद्रयुक्त एन-95 मास्क का इस्तेमाल ना करें। ये मास्क वायरस को फैलने से रोकने में सक्षम नहीं है। इसे इस्तेमाल करने वालों के लिए यह हानिकारक हो सकता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक ने राज्यों के स्वास्थ्य और मेडिकल शिक्षा के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि ऐसा देखा गया है कि जनता और स्वास्थ्य कर्मचारियों की ओर से एन-95 मास्क का गलत तरीके से इस्तेमाल किया जा रहा है। खासकर वो मास्क जिसमें छेद हैं।

यह भी पढ़ें -   टोक्यो ओलंपिक को कोरोना के चलते किया गया स्थगित, 2021 में होंगे खेल

महानिदेशक ने सलाह दी है कि घर पर बने मास्क का ज्यादा इस्तेमाल करें और स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध फेस मास्क को खरीद सकते हैं। महानिदेशक राजीव गर्ग ने कहा कि लोगों की इस बात की जानकारी दी जा रही है कि छिद्रयुक्त एन-95 मास्क इस्तेमाल के लिए हानिकारक हो सकते हैं। यह मास्क कोरोना वायरस को फैलने से नहीं रोकता है।

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वो एन-95 मास्क के इस्तेमाल से बचें और जितना हो सके घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करें। बता दें कि केंद्र सरकार ने अप्रैल महीने में एक एडवाइजरी जारी कर कहा था कि घर से बाहर निकलने पर घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करें ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके।

यह भी पढ़ें -   पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी एम्स में भर्ती, हालत स्थिर

केंद्र सरकार ने अपने एडवाइजरी में यह भी कहा था कि इन मास्क कवर को रोजाना धोया या साफ किया जाना जरूरी है। इसके अलावा मुंह को ढंकने के लिए कॉटन के कपड़े का इस्तेमाल कर सकते हैं।

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 11 लाख से ज्यादा हो चुकी है। कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 7 लाख है। कोरोना से अबतक 27 हजार 497 लोगों की मौत हो चुकी है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।