भाजपा को मिले 15 साल और मुझे केवल 15 महीने: कमलनाथ

कमलनाथ

भोपाल। मध्य प्रदेश में बीते कुछ समय से जारी सियासी संकट के लिए 20 मार्च का दिन बड़ा रहा। जिसके बाद मध्य प्रदेश की राजनीति किस ओर करवट लेगी, उसकी तस्वीर फ्लोर टेस्ट से पहले ही साफ हो गई। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने 20 मार्च शाम पांच बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फ्लोर टेस्ट कराने के आदेश से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस्तीफे का ऐलान किया।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि:पहले दिन से भाजपा ने हमारे खिलाफ षडयंत्र शुरू कर दिया था। जब मध्य प्रदेश में 15 महीने पहले हमारी सरकार बनी थी तो भाजपा के नेता कहते थे कि ये सरकार 15 दिन की सरकार है। ज्यादा दिन नहीं टिकेगी। बीजेपी 15 महीने से मेरी सरकार के खिलाफ साजिश रच रही है। 15 महीने में मैंने और मेरी सरकार ने जिस तरह से काम किया, उसे यहां की जनता ने देखा। हमारे ऊपर कोई भी आरोप नहीं लगा सकता। उन्होंने कहा कि धोखा देने वालों को मध्य प्रदेश की जनता माफ नहीं करेगी।

यह भी पढ़ें -   Delhi Ex CM Sheela Dixit passed away: दिल्ली की पूर्व सीएम शीली दीक्षित का निधन

कमलनाथ ने कहा कि भाजपा को 15 साल मिले थे और मुझे केवल 15 महीने। आखिर हमारा क्या कसूर था? हमारे ढाई महीने लोकसभा चुनाव और आचार संहिता में गुजरे। इन 15 महीनों मे राज्य का हर नागरिक गवाह है कि मैंने राज्य के लिए कितना काम किया। जनता को हमारे काम से कोई परेशानी नहीं मगर बीजेपी को यह पसंद नहीं आया और उसने लगातार हमारे खिलाफ साजिश रची।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।