पूर्वी भारत में चक्रवाती तूफान की आशंका, ओडिशा के कुछ जिलों में अलर्ट

चक्रवाती तूफान

आने वाले 24 घंटो में भारतीय मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान एमफन को लेकर अलर्ट जारी किया है। खबरों के मुताबिक कहा जा रहा है कि अगले दो दिनों में ये तूफान का रूप ले सकता है। कम दबाव वाले क्षेत्र की गति अभी पता नहीं चल पाई है। संभावित तूफान तट पर कहां टकराएगा इसकी जानकारी मौसम विभाग ने दिया है।

सुबह 8.30 मौसम विभाग ने तूफान को लेकर अपडेट जारी किया है। इसके मुताबिक कम दबाव का क्षेत्र ओडिशा में पारादीप से 1060 किलोमीटर दूर है। जबकि पश्चिम बंगाल के दीघा के तट से करीब 1310 किलोमीटर की दूरी पर है।

यह भी पढ़ें -   मौसम विभाग ने किया अलर्ट, चक्रवाती तूफान 'सागर' मचा सकती है तबाही

 आने वाले अगले 24 घंटे होगा खतरनाक

अगले 12 घंटे में ये तूफान का रूप ले सकता है, जबकि इसके बाद अगले 24 घंटे के में ये खतरनाक तूफान (Severe Cyclonic Storm) में बदल जाएगा। फिलहाल अनुमान लगाया जा रहा है कि 18-20 मई के बीच कभी ये तूफान बंगाल के तट से टकरा सकता है। 19 मई की सुबह से ओडिशा में 65 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल सकती है। हवा की रफ्तार लगातार बढ़ सकती है।

सोमवार को पश्चिम बंगाल के तटीय इलाके में हवा की रफ्तार 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। जबकि जिस दिन ये तूफान तट से टकराएगा उस दिन हवा की रफ्तार 190 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। जानकारी के अनुसार, मौसम विभाग ने अंडमान सागर, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अगले पांच-छह दिनों तक खराब मौसम की चेतावनी जारी की है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश होगी।

यह भी पढ़ें -   विशाखापट्टनम: मृतकों की संख्या हुई 8, पीएम मोदी बोले - मामले पर कड़ी निगरानी

वहीं ओडिशा के कुछ जिलों में अलर्ट के साथ ही ओडिशा में तूफान के संभावित खतरे से निपटने की तैयारियों के तहत शुक्रवार को 12 तटीय जिलों में चेतावनी जारी की गई। इसके लिए कई कलेक्टरों से लोगों के लिए वैकल्पिक आश्रय गृहों की व्यवस्था करने को कहा गया है।