आंध्र प्रदेश के बाद बंगाल में भी सीबीआई के लिए रास्ता बंद

after-andhra-pradesh-the-road-closure-for-cbi-in-bengal-also

कोलकाता। आंध्र प्रदेश सरकार के सीबीआई को लेकर नए निर्णय के बाद पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने भी सीबीआई का रास्ता राज्य के लिए बंद कर दिया है। अब पश्चिम बंगाल में प्रवेश के लिए सीबीआई को राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी। ममता सरकार ने सीबीआई को दो गई रजामंदी को वापस ले लिया है। बता दें कि इससे पहले ममता सरकार ने आंध्र प्रदेश सरकार के निर्णय का समर्थन भी किया था।

शादी के बाद क्या हैं तेज और ऐश्वर्या के तलाक का पेंच?

आंध्र प्रदेश में सीबीआई का रास्ता रोके जाने को ममता बनर्जी ने सही ठहराया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा अपने राजनीतिक हितों के लिए और बदला लेने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल कर रही है। पश्चिम बंगाल में ताजा निर्णय के बाद सीबीआई अब कोई भी जांच बिना राज्य सरकार के अनुमति के नहीं कर पाएगी। किसी भी संभावित जांच के लिए सीबीआई और अन्य केंद्रीय जांच एजेंसियों को राज्य सरकार की अनुमति लेनी होगी।

यह भी पढ़ें -   मतदाता पहचान पत्र नागरिकता का पर्याप्त प्रमाण, अदालत ने दो को बरी किया

आंध्र प्रदेश में बंद हुआ सीबीआई के लिए दरवाजा, लेनी होगी राज्य सरकार से अनुमति

after-andhra-pradesh-the-road-closure-for-cbi-in-bengal-also

ममता बनर्जी सरकार ने शुक्रवार को सीबीआई को सूबे किसी भी प्रकार की जांच और छापे के लिए दी गई सामान्य रजामंदी वापस ले ली। बता दें कि पश्चिम बंगाल सरकार ने 1989 में सीबीआई को राज्य में जांच और छापे मारने के लिए सामान्य रजामंदी दी थी। राज्य सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, शुक्रवार की अधिसूचना के बाद सीबीआई को अब से अदालत के आदेश के अलावा अन्य मामलों में किसी तरह की जांच करने के लिए राज्य सरकार की अनुमति लेनी होगी।

यह भी पढ़ें -   NRC: मनोज तिवारी बोले- स्थिति खतरनाक, दिल्ली में भी लागू हो NRC

ओम पुरी के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें

बता दें कि सीबीआई एक जांच एजेंसी है और यह दिल्ली पुलिस विशेष प्रतिष्ठान कानून के तहत काम करती है। जांच एजेंसी को देश में किसी भी राज्य में बिना रोक-टोक के जांच करने और छापे मारने का अधिकार है। लेकिन पिछले कुछ सालों से सीबीआई की कार्यशैली को लेकर सवाल उठते रहे हैं। सीबीआई पर केंद्र सरकार के इशारों पर काम करने का आरोप लग चुका है।

यह भी पढ़ें -   हिमाचल के मंडी में बादल फटने से अबतक 46 की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *