क्या देश में लॉकडाउन-4 और लॉकडाउन-5 भी आने वाला है?

लॉकडाउन

नई दिल्ली। लॉकडाउन-2 की अवधि खत्म होने से पहले केंद्र सरकार ने देश में लॉकडाउन-3 का आदेश जारी कर दिया है। कांग्रेस ने सरकार से जवाब मांगते हुए पूछा है कि इस लॉकडाउन से बाहर निकलने की सरकार की योजना क्या है, और यह पूरी तरह खत्म कब होगा? पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार से आग्रह किया कि प्रवासी मजदूरों से किराया लिए बगैर उन्हें घर भेजने के लिए रेलगाड़ियों की व्यवस्था की जाए।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

कांग्रेस ने सरकार से पूछा लॉकडाउन खत्म कब होगा?

सुरजेवाला ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कहा कि गृह मंत्रालय ने शुक्रवार शाम आदेश जारी कर 17 मई तक लॉकडाउन का तीसरा चरण लागू कर दिया। उन्होंने कहा कि न प्रधानमंत्री सामने आए, न राष्ट्र को संबोधित किया। यहां तक कि गृहमंत्री भी नहीं आए, कोई अधिकारी भी सामने नहीं आया, आया तो केवल एक आधिकारिक आदेश।

यह भी पढ़ें -   पीएम मोदी का गुजरात दौरा, द्वारकाधीश मंदिर में की पूजा, गिनाए जीएसटी के फायदे

सुरजेवाला ने सवाल करते हुए पूछा कि लॉकडाउन के तीसरे चरण के पीछे क्या लक्ष्य और रणनीति है तथा इसके आगे का क्या रास्ता है? क्या लॉकडाउन-3 आखिरी है और 17 मई को खत्म हो जाएगा? या फिर, लॉकडाउन-4 व लॉककाउन-5 भी आने वाला है? यह पूर्णतया खत्म कब होगा?

सरकार का आर्थिक संकट से उबरने का लक्ष्य क्या है?

उन्होंने पूछा कि 17 मई तक कोरोना संक्रमण व आर्थिक संकट से उबरने का लक्ष्य क्या है? मोदी सरकार ने 17 मई तक संक्रमण, रोजी-रोटी की समस्या व आर्थिक संकट से निपटने के लिए क्या लक्ष्य निर्धारित किए हैं? उन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए 17 मई तक क्या सार्थक व निर्णायक कदम उठाए जाएंगे?

यह भी पढ़ें -   कॉलेज स्टूडेंट्स ध्यान दें, अब आप कर सकते है एक साथ दो डिग्री

सुरजेवाला ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी की तरफ से प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्रों का उल्लेख करते हुए कहा कि लाखों मजदूरों की 15 दिन में बिना किराया लिए घर वापसी करने की खातिर सैनिटाइज की गई ट्रेन का इंतजाम किया जाए। गरीबों-मजदूरों-किसानों के जन-धन खातों, किसान योजना खातों, मनरेगा मजदूर खातों व बुजुर्ग-महिला-विकलांगों के खातों में सीधे 7500 रुपये डाले जाएं।

कांग्रेस की मांग- कोरोना जांच का दायरा बढ़ाया जाए

सुरजेवाला ने कहा कि देश में कोरोना की जांच का दायरा कई गुना बढ़ाया जाए। डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्यकर्मियों को निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) मुहैया करवाएं व विशेष आर्थिक मदद दें। यही सुविधा पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों व जरूरी सेवाओं में लगे कर्मियों को भी मिले।

यह भी पढ़ें -   यूएस, फिनलैंड, यूक्रेन, ईरान और छह अन्य देशों के फिल्म निर्माताओं को CIFFI 2021 में सम्मानित किया गया
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।