Vasant Panchami 2020 Date: माँ सरस्वती की पूजा से करें माँ को प्रसन्न

Vasant Panchami 2020

Vasant Panchami 2020 : 30 जनवरी को बसंत पंचमी है। बसंत पंचमी को माँ सरस्वती की पूजा की जाती है। गुरुवार 30 जनवरी 2020 को बसंत पंचमी मनाया जा रहा है। वसंत पंचमी के दिन इस बार दो शुभ मुहूर्त का संयोग बन रहा है। यह सिद्धि और सर्वार्थसद्धि योग जैसे दो श्रेष्ठ संयोग बन रहा है। Vasant Panchami 2020 के दिन कई राज्यों में माता की पूजा की जाती है। खासकर छात्र वर्ग में Vasant Panchami को लेकर विशेष उत्साह रहता है।

वसंत पंचमी को श्रेष्ठ संयोग

इस वर्ष वसंत पंचमी का त्योहार 29 जनवरी और 30 जनवरी को दोनों दिन मनाया जा रहा है। ऐसा पंचाग में तिथि भेद की वजह से है। वसंत पंचमी के दिन पूजा का विशेष महत्व तिथि को लेकर होता है। पंचमी 30 जनवरी को है। इसलिए कई ज्योतिषविदों का मानना है कि 30 जनवरी को पंचमी तिथि पड़ रही है। इसलिए वसंत पंचमी 30 जनवरी को मनाना ही श्रेष्ठ रहेगा।

30 जनवरी को सूर्योदय के समय से ही पंचमी तिथि उपस्थित रहेगी। इसलिए ज्यादातर ज्योतिषविदों का मानना है कि Vasant Panchami 2020 का त्योहार 30 जनवरी को ही मनाया जाना चाहिए। बता दें कि वसंत पंचमी को विवाह और अन्य कार्यों के लिए शुभ होती है। वसंत महीने के पंचमी तिथि को इन शुभ कार्यों के लिए विशेष शुभ माना गया है।

यह भी पढ़ें -   देवशयनी एकादशी से चार महीने तक कोई भी शुभ कार्य नहीं होंगे
Vasant Panchami 2020 Date and Time

वसंत पंचमी को लेकर पंचाग भेद  है, लेकिन ज्यादार ज्योतिषविद्द 30 जनवरी को ही श्रेष्ठ मान रहे हैं। पंचमी तिथि बुधवार सुबह 10.46 से शुरु होकर गुरुवार दोपहर 1.20 तक रहेगी। पंचमी तिथि को वसंत पंचमी की पूजन सूर्योदय के समय सुबह ही किया जाता है। इसलिए ज्योतिषविद् के अनुसार, 30 जनवरी को सुबह में पंचमी तिथि पड़ रही है। इसलिए गुरुवार 30 जनवरी को वसंत पंचमी मनाना शुभ और श्रेष्ठ है। क्योंकि गुरुवार को पंचमी तिथि सूर्योदय के समय से ही है।

यह भी पढ़ें -   सबरीमाला मंदिर में हालात बदतर, 72 भक्तों को गिरफ्तार किया गया
वसंत पंचमी की तिथि और समय
  • 10.46 बजे सुबह से बुधवार को शुरु होगी और गुरुवार 1.20 तक रहेगी।
  • 1.20 बजे तक गुरुवार को रहेगी, लेकिन दोनों दिन पूर्वाह्न में व्यापिनी तिथि रहेगी।