नौकरी दिलाने के बहाने गर्भवती महिला से 8 लोगों ने किया गैंगरेप

मुंबई। एक तरफ महाराष्ट्र में जहां मराठ आंदोलन का मामला तूल पकड़ा हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ सांगले जिले से एक गर्भवती महिला के साथ रेप का मामला सामने आय़ा है। जानकारी के अनुसार, महिला अपने पति के साथ किसी काम से तासगांव जा रही थी। इसी दौरान 8 लोगों ने उसके पति को बंधक बनाकर महिला की इज्जत लूट ली। महिला 8 महीने की गर्भवती भी है।

दरअसल, 31 जुलाई को सतारा की रहने वाली 20 वर्षीय महिला अपने पति के साथ तासगांव के तुर्चि जा रही थी। महिला का पति होटल मालिक है और वह अपने होटल के  काम से जा रहा था। आरोपियों में से एक आरोपी मुकुंद माने ने उन्हें मीटिंग के लिए वहां बुलाया था। घटना वाले दिन सुबह 6 बजे पीड़िता और अपने पति के साथ उनसे मिलने पहुंची थी।

खबरों के मुताबिक, जब वह लोग तुर्चि फाटा पहुंचे तो वहां माने और उसके आदमी पहले से मौजूद थे। इसके बाद उन्होंने पहले तो पीड़िता के पति को खूब पीटा और फिर उसे कार में बंद कर दिया। फिर उन्होंने  पीड़िता के सोने के जेवर और पैसे लूटे और कथित रूप से महिला के साथ रेप किया। वारदात को अंजाम देने के बाद वह वहां से भाग गए। साथ ही, दोनों को धमकी भी देकर गए कि वह पुलिस को इस बारे में कुछ भी न बताएं। इस इलाके में उनका बहुत प्रभाव है और कोई भी उनकी बात नहीं सुनेगा।

सैम मानेकशॉ ने जब इंदिरा गांधी को कहा था, ‘मैं तैयार हूं स्वीटी’

घटना के बाद दोनों पति-पत्नी बहुत मुश्किल से तासगांव पुलिस स्टेशन तक पहुंचे और मामला दर्ज करवाया। महिला ने प्राथमिकी में आठ में से चार लोगों का नाम दर्ज करवाया।

जानकारी के मुताबिक घटना के 48 घंटे बाद तक एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई। मामले को गंभीरता से लेते हुए महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने इसमें हस्तक्षेप किया है। आयोग की अध्यक्ष विजया राहतकर ने सांगली के पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है और व्यक्तिगत रूप से मामले की जांच करने और विस्तृत रिपोर्ट जमा करने को कहा है।


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें