कबूतर का घर में आना शुभ या अशुभ, जानें घर में कबूतर आने का मतलब

कबूतर का घर में आना शुभ या अशुभ

कबूतर पालना सबको पसंद होता है। कबूतर को शांति का प्रतीक माना जाता है। लेकिन घर में कबूतर का आना शुभ होता है या अशुभ? क्या होता है यदि कबूतर आपके घर में घोंसला बना ले। कबूतर को दाना खिलाना जितना अच्छा और आसान होता है उतना ही मुश्किल होता है कबूतर को पालना। कबूतर को पालने से अच्छा है कि उसे रोजाना दाना खिलाएं। जानिए घर में कबूतर होने के शुभ-अशुभ संकेत।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

सड़कों पर या घर की छत पर अक्सर लोग कबूतर को दाना खिलाते हैं। कबूतर को दाना खिलाना (Grain and Water) शुभ माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, घर में रखी हुई चीजें धन के आगमन में रुकावट बन सकती है। ऐसे में घर में बेकार की वस्तुओं को नहीं रखना चाहिए। कबूतर के घर में आने से सुख-शांति में वृद्धि होती है।

यह भी पढ़ें -   Malmas 2023 Date: मलमास कब से शुरू होगा और कब खत्म होगा? जानें तिथि और महत्व
कबूतर का घर में आना शुभ या अशुभ

घर में कबूतर का आना शुभ माना जाता है। घर में कबूतर का आना जीवन में सुख-शांति का संकेत (Sign of Happiness and Peace) देता है। इससे आपको काम में बहुत ही कम समय में सफलता मिलने वाली होती है। कई लोग घर में कबूतर का आना बुरा मानते हैं, लेकिन यह एक अच्छा संकेत होता है। कई बार सपने में कबूतर दिखता है। सपने में कबूतर देखना एक शुभ सपना होता है।

कबूतर को रोजाना दाना खिलाने से ना केवल आपको दुआएं मिलेंगी बल्कि आपके घर में सुख, शांति और समृद्धि भी बनी रहेगी। लेकिन यदि घर में या उसके आसपास कबूतर का घोंसला (Pigeon Nest) बना हुआ है तो उसे घर से दूर छोड़ आएं क्योंकि घर में कबूतर का घोंसला होने से आर्थिक तंगी के साथ घर में अस्थिरता भी आती है।

यह भी पढ़ें -   Chhath Puja 2018: इन गीतों को सुनकर आपका मन भक्ति से झूम उठेगा

कबूतर के घर में आने से आपका बुरा भाग्य भी अच्छे भाग्य में बदल सकता है। इसलिए घर में कबूतर आने पर भगाएं नहीं बल्कि उसे दाना खिला दें। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कबूतर को माँ लक्ष्मी का भक्त माना जाता है। घर में कबूतर का वास होने से लक्ष्मी माता प्रसन्न होती हैं और सुख-शांति में वृद्धि होती है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।