बिहार का लाल साकेत ने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में बनाई अपनी पहचान

बिहार का लाल साकेत

हर मां बाप का सपना होता है उनके बच्चे पढ़ लिखकर आगे बढ़े। किसी क्षेत्र में कामयाबी हासिल करे। उनका और परिवार का नाम रोशन करे। हर मां-बाप जहां तक सक्षम होते हैं, बच्चों की हर ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए कोशिश करते हैं। बच्चों का भी फर्ज़ होता है कि वह सही रास्ते पर चलकर मेहनत, ईमानदारी से मां-बाप के सपने को पूरा करे। और जब ऐसा हो जाता है मां-बाप का जीवन सफल हो जाता है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है बिहार के साकेत ने।

कुछ इसी तरह की ख़बर बिहार के दरभंगा की है। मिथिलांचल के दोनार निवासी साकेत बैरोलिया ने काफी चुनौतियों के बीच अपनी कड़ी मेहनत से बाॅलीवुड में पहचान हासिल की है। साकेत एक बहुत ही उम्दा और युवा पाश्र्व गायक हैं। 2014 से मुंबई में स्ट्रगल करते हुए साकेत अब मुंबई में सिंगिंग प्रोफेशन में अच्छी पहचान बना चुके हैं। पाश्र्व गायकी में उनकी आवाज़ ऐसी है कि हर तरफ इस समय इन्हीं के चर्चे हैं।

बता दें कि, साकेत मैथिली, भोजपुरी, तमिल, तेलगू, बांग्ला सहित 24 अन्य भाषाओं में कई सुपरहिट साॅन्ग्स दे चुके हैं। यही नहीं, अब साकेत आगे बढ़ते हुए 2 अक्टूबर को एक मैथिली वेबसीरिज रिलीज कर रहे हैं। फिल्म का नाम “मिथिला मखान” है। इस फिल्म में भी साकेत ने गाने गाए हैं। फिल्म की शूटिंग देश के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा दक्षिण अफ्रीका, जिम्बाब्वे, केन्या, कागो, जांबिया में हुई है। साकेत की म्यूजिक क्रू टीम का नाम “डे ट्रिपर्स है। साकेत के साथ उनकी म्यूजिक टीम का भी इस फिल्म के प्रति काफी योगदान रहा है।

साकेत इस फिल्म को लेकर काफी उत्साहित हैं। अब तक की तमाम कामयाबी से देखते हुए उनकी इस फिल्म को लेकर भी काफी उम्मीदें हैं। उन्होंने बताया कि, उन्होंने और उनकी पूरी टीम ने इस फिल्म को लेकर रात दिन बहुत मेहनत किया है। उनका यह सपना काफी सालों बाद पूरा होने जा रहा है। बिहार के एक छोटे से गांव से कुछ उम्मीदें, कुछ सपने लेकर चलने वाले साकेत को मुंबई में काफी चुनौतियां मिली। लेकिन साकेत ने बॉलीवुड में अपना झंडा बुलंद किया। शायद वो उन चुनौतियों को कुछ शब्दों में बयां नहीं कर पाएं। लेकिन अब जब उनका सपना लगभग-लगभग पूरा हो चुका है, तो वो पुराने दर्द एक हंसी में टाल देते हैं।

साकेत की अगर हम फैमिली बैकग्राउंड की बात करें तो उनके पिता श्रवण बैरौलिया इंजीनियर हैं। पिता बताते हैं कि साकेत की संगीत में बचपन से ही रुचि रही है। साकेत का पढ़ाई से ज्यादा मन म्यूजिक और सिंगिंग में लगता था। अगर हम साकेत की एजुकेशनल डिटेल की बात करें तो साकेत ने स्कूली पढ़ाई दरभंगा से की है, और ग्रेजुएशन पोस्ट ग्रेजुएशन मुंबई से की है। उन्होंने लाॅ भी किया है। इसी बीच उनकी सिंगिंग, म्यूजिक की क्लासिज और प्रैक्टिस चलती रही। आपको जानकर ताज्जुब होगा कि साकेत कई रियलिटी शो में भी भाग ले चुके हैं। इनमें से भोजपुरी चैनल “महुआ चैनल” का “सुर संग्राम” शो, 2012 में दूरदर्शन का “झूमे नाचे गाये”, “सारेगामा” 2010 में फेस्टिवल चैम्पियन में, ईटीवी के शो में भाग ले चुके हैं।

साकेत कुछ विज्ञापनों में भी काम करने को मौका मिला। जिसमें “एशियन पेंट्स”, “कपिला पशु आहार”, “मिल्क ओमोड”, “रिलायंस”, “ब्रिटानिया” के विज्ञापनों में अपनी आवाज़ देने का मौका मिला। इन दिनों साकेत अपने घर दरभंगा आए हुए हैं। उनकी 2 अक्टूबर को फिल्म रिलीज हो रही है। ऐसे में उन्हें बहुत सारी तैयारियां करनी है। उनका मकसद है कि इसकी शुरुआत घर से ही की जाए। उनके गांव के लोग उनकी कामयाबी को लेकर बहुत खुश हैं। वह अपने गांव में तमाम युवाओं के लिए एक प्रेरणा बन रहे हैं।