अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप गिरफ्तार, कोर्ट में पेशी, इस मामले में खुद को बताया निर्दोष

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप गिरफ्तार

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को मैनहट्टन की अदालत में पेश किया गया। ट्रंप पर कारोबारी रिकॉर्ड में हेराफेरी करने के 34 संगीन मामले दर्ज हैं। हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप ने इस मामले में खुद को निर्दोष बताया है। उन पर 2016 के राष्ट्रपति पद के चुनाव प्रचार के दौरान पोर्न स्टार को अपना मुँह बंद रखने के लिए ध्यान देने का आरोप है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

वह सुनवाई के लिए खुद सरेंडर करने पहुंचे थे लेकिन इससे पहले ही मैनहट्टन जिला अटॉर्नी के कार्यालय में उन्हें गिरफ्तार किया गया। अमेरिका के इतिहास में यह पहली बार है, जब किसी पूर्व राष्ट्रपति को किसी आपराधिक मामले में गिरफ्तार किया गया हो।

यह भी पढ़ें -   पीएम मोदी का रूस दौरा इन मायनों में है अहम

सुनवाई के दौरान ट्रंप ने स्टेट सुप्रीम कोर्ट के सामने खुद को निर्दोष बताया है। पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप के वहाँ पहुंचने से पहले सुरक्षा व्यवस्था बहुत ही कड़ी कर दी गई थी। बताया जा रहा है कि आठ कारों के काफिले से ट्रम्प अदालत पहुंचे। अदालत पहुंचने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

अमेरिका में ट्रंप के गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थकों में रोष है। ट्रंप जब अदालत जा रहे थे तो उन्होंने टीवी चैनल पर लाइव प्रसारण पर नजर पड़ा लेकिन उन्होंने इस बात को कोई तवज्जो नहीं दी। ट्रंप के वकील ने कहा कि वह अदालत से कहेंगे कि वह दोषी नहीं हैं।

यह भी पढ़ें -   हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के अध्यक्ष जॉन यरमुथ ने तर्कहीन और विनाशकारी बताया

दोषी होने से करेंगे इंकार

अमेरिकी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, वकीलों ने कहा कि साल २०२४ में व्हाइट हाउस की दौड़ में शामिल होने के इच्छुक ७४ वर्षीय रिपब्लिकन नेता अदालत के सामने आपराधिक मामले में दोषी होने से इंकार करेंगे। बता दें कि ट्रंप व्यस्क फिल्मों की अभिनेत्री स्टार्मी डेनियल को धन देने की वजह से आपराधिक मामले का सामना कर रहे हैं।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

अमेरिका में ट्रंप की गिरफ्तारी के बाद किसी भी प्रकार से माहौल ना खराब हो इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। पूरे न्यूयॉर्क शहर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। ट्रंप के समर्थक शहर में जमा हो गए हैं। न्यूयॉर्क के महापौर एरिक एडम्स ने चेतावनी दी है कि कानून-व्यवस्था खराब करने पर कड़ी कार्रवाई होगी। व्हाइट हाउस ने इस घटना पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है।

यह भी पढ़ें -   चाबहार रेल परियोजना - ईरान ने भारत को दिया झटका, परियोजना से हटाया
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।