भारत ने पाक को दी चेतावनी: दूसरे देशों के मामले में दखल न दे

India warns pakistan

नई दिल्ली। धारा 370 को हटाने के बाद पाकिस्तान की ओर से आ रही प्रतिक्रिया के बाद भारत ने पाक को चेतावनी (India warn pakistan) दी है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान दूसरे देशों के मामले में (India warns pakistan) दखल न दे। पाकिस्‍तान के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने शुक्रवार को एलान किया कि जोधपुर से कराची के बीच चलने वाली थार एक्‍सप्रेस सेवा को बंद कर दिया जाएगा।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

बता दें कि पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस को अपने सीमा के अंदर ही रोक लिया था। जिसके बाद भारतीय रेल ड्राइवर और गार्ड ने समझौता एक्सप्रेस को वापस भारत लाया। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर पाकिस्तान की इन हरकतों को एकतरफा बताया है। पाकिस्तान को अपने फैसलों को पुनर्विचार करने को कहते हुए चेतावनी दी गई कि वो दूसरे देशों के मामलों में दखल न दे।

यह भी पढ़ें -   पुलवामा हमला: क्रिकेट में भी पाकिस्तान को बाहर का रास्ता दिखाने की कोशिशें तेज!

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्‍तान द्वारा ताबड़-तोड़ एकतरफा फैसले लेने का सिलसिला नहीं थम रहा है। बगैर हमसे संपर्क किए ही ये सारे फैसले पाकिस्‍तान लिए जा रहा है। हमने उनसे इन फैसलों पर दोबारा विचार करने का आग्रह किया है। हमारा मानना है कि पाकिस्‍तान द्वारा जो भी किया जा रहा है वह दि्वपक्षीय संबंधों के लिए चेतावनी है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अन्य देशों के मामले में दखल देना बंद करने का समय है और जम्मू-कश्मीर की वास्तविकता को स्वीकार करने का समय आ गया है।

यह भी पढ़ें -   दो हिस्सों में बंटा शताब्दी एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे यात्री

गुरुवार को पाकिस्‍तान से भारत आने वाली समझौता एक्‍सप्रेस को पाकिस्‍तानी क्रू मेंबर ने ट्रेन को सीमा पर रोक दिया और इसे आगे बढ़ाने से इंकार कर दिया। पाकिस्‍तान रेलवे की ओर से अटारी रेलवे स्‍टेशन के अधीक्षक को संदेश भिजवाया गया कि वे ट्रेन को आगे ले जाने के लिए भारतीय क्रू सदस्यों को भेजें। जिसके बाद भारतीय रेलवे ने अपने क्रू-मेंबर के जरिए ट्रेन को वापस भारतीय सीमा में लाया गया।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।