बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 500 के करीब

बिहार में कोरोना

पटना। बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 500 के करीब पहुंच चुकी है। राज्य में लगातार कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। बिहार में पिछले दो दिनों में 57 नए केस मिल चुके हैं। राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने प्रशासन और अस्पतालों को तैयार रहने को कहा है।

बिहार में रविवार के दिन 4 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई है। बिहार के 38 जिलों में पांच जिले रेड जोन में चले गए हैं। बिहार सरकार ने कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए सभी स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां 31 मई तक रद्द कर दी है। इससे पहले स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ाई गई थी।

केंद्र सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों और छात्रों को लाने के लिए दिए गए छूट के बाद बिहार में कोरोना संक्रमण के बढ़ने के आसार हैं। सीएम नीतीश कुमार ने राज्य के आला अधिकारियों को किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें -   औरंगाबाद में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद 7 गांव को किया गया सील

बिहार के रेड जोन में शामिल जिलों की संख्या

मुंगेर जिला – कुल कोरोना केस – 95
पटना जिला – कुल कोरोना केस – 43
रोहतास जिला – कुल कोरोना केस – 52
बक्सर जिला – कुल कोरोना केस – 51
गया जिला – कुल कोरोना केस – 6

बिहार में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा कहर युवाओं पर पड़ा है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार के अनुसार, बिहार में अभी तक 79 फीसदी केस एक्टिव हैं। राज्य में 485 में से 246 मरीज 30 वर्ष या उससे नीचे के हैं, जबकि 98 मरीज 30 से 40 वर्ष के बीच के हैं।

यह भी पढ़ें -   बिहार में कोविड-19 मरीजों की संख्या 1400 के पार, 10 जिलों में 19 नए मरीज

बिहार के ग्रीन जोन में शामिल जिले

शेखपुरा, जमुई, खगरिया, मुजफ्फरपुर, सहरसा, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, कटिहार, किशनगंज, पश्चिम चंपारण, शिवहर और सीतामढ़ी जिले ग्रीन जोन में है।

कोरोनावायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण के बाद बिहार सरकार रेड जोन में शामिल जिलों में किसी भी प्रकार के छूट देने के पक्ष में नहीं है। रेड जोन को लेकर केंद्र सरकार के गाइडलाइन के अनुसार तमाम नियम-कानून लागू होंगे। लोगों को पहले की ही तरह लॉकडाउन का सख्ती के साथ पालन करना होगा।