औरंगाबाद में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद 7 गांव को किया गया सील

औरंगाबाद में कोरोना

पटना। बिहार के औरंगाबाद जिले में दो कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों के मिलने के बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। जिला प्रशासन हाई अलर्ट मोड पर आ गई है। जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल के निर्देश के बाद दोनों मरीजों के घरों पर अधिकारियों की दो अलग-अलग टीम पहुंची और परिवार के अन्य सदस्यों को क्वारेंटाइन किया।

जिलाधिकारी के आदेश पर बनी टीम में शामिल अधिकारियों ने बताया कि ओबरा के मरीज के घर से 23 और देव के पवई पंचायत से 20 लोगों को क्वारेंटाइन किया गाय है। टीम में शामिल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने संक्रमित मरीज के परिवार के सभी सदस्यों को पीपीई किट में लैश कार से क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजा।

औरंगाबाद जिलाधिकारी सौरभ जोरवाल ने बताया कि दोनों मरीजों के संपर्क में आये लोगों को खोज हो रही है और जल्द ही उन्हें भी क्वॉरेंटाइन करने में टीम लगी हुई है।

यह भी पढ़ें -   बिहार में बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत, सीएम नीतीश ने किया मुआवजे का ऐलान

औरंगाबाद के 7 गांव पूरी तरह सील

औरंगाबाद में 2 कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद जिले के 7 गांव को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। जिले के जिलाधिकारी सौरव जोरवाल ने कहा कि प्रतिबंधित किए गए सातों गांव के ग्रामीणों को गांव से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी गई है।

जिलाधिकारी ने अनुसार, ग्रामीणों के लिए आवश्यक खाद्य सामग्री गांव में ही बनाए गए पंचायत भवन में मुहैया कराई गई है। इसे प्रशासनिक सहयोग से ग्रामीणों के बीच वितरित किया जाएगा। औरंगाबाद में अबतक कोरोना के मामले में दोनों गांवों के कुल 43 लोगों का थर्मल स्कैनिंग कर उन्हें जिला मुख्यालय में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर पर रखा गया है।

यह भी पढ़ें -   सिंगर कनिका कपूर कोरोना पॉजिटिव, हलचल तेज, सिंगर पर केस दर्ज

बता दें कि बिहार में कोरोना पॉजिटिव केस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। सिवान के बाद मुंगेर जिला कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित है। बिहार में 243 कोरोना पॉजिटिव अभी तक सामने आ चुके हैं। इस खतरनाक वायरस से बिहार में 2 लोगों की मौत हो चुकी है।

You May Like This!😊