कोरोना की मार, महिलाओं से रेंट के बदले शारीरिक संबंध बनाने की डिमांड

कोरोना की मार

कोरोना वायरस की मार की वजह से भारत सहित पूरी दुनिया में लॉकडाउन है। कई देश कोरोना की मार से आर्थिक तंगी की हालत में पहुंच चुके हैं। लोगों का रोजगार खत्म हो गया है। नौकरी करने वाले लोगों की नौकरी चली गई है। ऐसे में एक दुखद खबर है अमेरिका की, जहां पर मकान मालिक महिला किरायेदारों से रेंट के बदले शारीरिक संबंध बनाने की मांग कर रहे हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

लॉकडाउन की वजह से किराये के मकानों में रहने वाले लोगों पर समस्याओं का पहाड़ टूट पड़ा है। नौकरी जाने के बाद लोगों के पास मकान का किराया देने के लिए पैसे नहीं हैं। ऐसे समय में महिलाओं को ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख के पार, देश में पिछले 24 घंटे में 4970 नए केस

एनएफएचए यानि नेशनल फेयर हाउसिंग एलायंस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 100 से भी ज्यादा फेयर हाउसिंग ग्रुप्स ने अमेरिका में लोगों को इस समस्या से जूझते देखा है। कोरोना महामारी के बीच महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न के मामलों में 13 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है।

एनएफएचए की वेबसाइट पर एक महिला के हवाले से कहा गया है कि ‘अगर मैं अपने प्रॉपर्टी मैनेजर के साथ सेक्स करने से इनकार करती तो वो मुझे घर से बाहर निकाल देता। एक सिंगल मदर होने के नाते मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था। मैं अपना घर खोना नहीं चाहती थी।’

यह भी पढ़ें -   2019 के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार इथोपिया के पीएम अबी अहमद को मिला

रूम किराए के बदले सेक्स की मांग करने वाले मामले में अब अमेरिका के साथ-साथ ब्रिटेन भी जांच के दायरे में आ गए हैं। इससे बचाव के लिए उत्तरी अमेरिका और यूरोपियन ऑथोरिटिज ने कैश बैनेफिट्स, रेंट फ्रीजिस और निष्कासन प्रतिबंध को लेकर नियम बनाए हैं।

इस तरह के मामले काफी व्यापक हैं। ये बेहद ही डराने वाले मामले हैं। हाउसिंग चैरिटी शेल्टर (इंग्लैंड) की 2018 की रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले पांच सालों में करीब 250000 महिलाओं से किराया के बदले सेक्स की मांग की गई थी।

यह भी पढ़ें -   एक बार फिर संपूर्ण बिहार में लग सकता है लॉकडाउन, जानिए वजह
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।