कोरोना की मार, महिलाओं से रेंट के बदले शारीरिक संबंध बनाने की डिमांड

कोरोना की मार

कोरोना वायरस की मार की वजह से भारत सहित पूरी दुनिया में लॉकडाउन है। कई देश कोरोना की मार से आर्थिक तंगी की हालत में पहुंच चुके हैं। लोगों का रोजगार खत्म हो गया है। नौकरी करने वाले लोगों की नौकरी चली गई है। ऐसे में एक दुखद खबर है अमेरिका की, जहां पर मकान मालिक महिला किरायेदारों से रेंट के बदले शारीरिक संबंध बनाने की मांग कर रहे हैं।

लॉकडाउन की वजह से किराये के मकानों में रहने वाले लोगों पर समस्याओं का पहाड़ टूट पड़ा है। नौकरी जाने के बाद लोगों के पास मकान का किराया देने के लिए पैसे नहीं हैं। ऐसे समय में महिलाओं को ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

एनएफएचए यानि नेशनल फेयर हाउसिंग एलायंस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 100 से भी ज्यादा फेयर हाउसिंग ग्रुप्स ने अमेरिका में लोगों को इस समस्या से जूझते देखा है। कोरोना महामारी के बीच महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न के मामलों में 13 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है।

यह भी पढ़ें -   लॉकडाउन 4 में सरकार की तरफ से किन चीजों में राहत दी गई है? जानिए

एनएफएचए की वेबसाइट पर एक महिला के हवाले से कहा गया है कि ‘अगर मैं अपने प्रॉपर्टी मैनेजर के साथ सेक्स करने से इनकार करती तो वो मुझे घर से बाहर निकाल देता। एक सिंगल मदर होने के नाते मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था। मैं अपना घर खोना नहीं चाहती थी।’

रूम किराए के बदले सेक्स की मांग करने वाले मामले में अब अमेरिका के साथ-साथ ब्रिटेन भी जांच के दायरे में आ गए हैं। इससे बचाव के लिए उत्तरी अमेरिका और यूरोपियन ऑथोरिटिज ने कैश बैनेफिट्स, रेंट फ्रीजिस और निष्कासन प्रतिबंध को लेकर नियम बनाए हैं।

यह भी पढ़ें -   चीन की ट्रंप को सलाह, आईफोन से हैं परेशान तो हुआवेई का फोन इस्तेमाल करें

इस तरह के मामले काफी व्यापक हैं। ये बेहद ही डराने वाले मामले हैं। हाउसिंग चैरिटी शेल्टर (इंग्लैंड) की 2018 की रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले पांच सालों में करीब 250000 महिलाओं से किराया के बदले सेक्स की मांग की गई थी।