भारत में कोरोना की चौथी लहर कब तक आ सकती है? जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ

कोरोना की चौथी लहर

भारत में कोरोना की चौथी लहर कब तक आएगी? यह सवाल लोगों के मन में लगातार बढ़ता जा रहा है। भले ही भारत में कोरोना के नए मामलों में कमी देखी जा रही है लेकिन दुनिया के कई देशों में कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। ऐसे में भारत के लोगों के मन में फिर से कोरोना को लेकर डर पैदा होने लगा है।

भारत कोरोना की तीन लहरों को पार कर चुका है। देश में कोरोना महामारी से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में कोरोना का प्रकोप सबसे ज्यादा दूसरी लहर में देखने को मिला था। भारत में कोरोना की तीसरी लहर लगभग खत्म हो चुकी है। लेकिन इस बीच दुनिया के कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर से भारत में चौथी लहर के आने की संभावना को जन्म दे दिया है। विशेषज्ञ भारत में कोरोना की चौथी लहर कब तक आएगी, इस बारे में मोटे तौर पर बता रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस- जानिए क्यों मनाया जाता है महिला दिवस?

एक बार फिर से दुनिया भर में कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। पिछले 24 घंटे में दुनिया भर में कोरोनावायरस से 16 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। भारत ने पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 4575 केस सामने आए हैं। ऐसे में देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए यह सवाल खराब होने लगा है कि क्या भारत में भी कोरोना की चौथी लहर आ गई है?

भारत में कोरोना की तीसरी लहर लगभग खत्म हो चुकी है। लेकिन चीन, दक्षिण कोरिया जैसे देशों में बढ़ते कोरोना के मामलों ने फिर से भारत में कोरोना की चौथी लहर आने की आशंका को जन्म दे दिया है। हालांकि इस विषय में वायरोलॉजिस्ट डॉक्टर टी जैकब जॉन का कहना है कि भारत में किसी भी तरह की कोई चौथी लहर नहीं आएगी।

यह भी पढ़ें -   नैतिकता का पाठ दुष्कर्म की मानसिकता को खत्म कर सकता है?
मंगलवार को मिले थे इतने केस

भारत में बुधवार को पुराना के 4575 केस सामने आए थे। इससे पहले मंगलवार को 3993 नए केस सामने आए थे। इस प्रकार देखा जाए तो बुधवार को कोरोना के मामलों में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बता दें कि भारत में तीसरी लहर का पीक 21 जनवरी को आया था। इस दिन भारत में कोरोना के 347254 नए मामले सामने आए थे।

बता दें कि भारत जैसे विशाल देश में कोरोना को लेकर दुनिया के कई देशों में नेगेटिव रिपोर्टिंग की गई थी। दुनिया के कई देशों ने आशंका व्यक्त की थी कि यदि भारत में कोरोना का हमला होता है तो यह एक बड़ी आबादी को अपनी गिरफ्त में ले लेगा। हालांकि भारत के लोगों की सतर्कता और जागरूकता ने कोरोना को फैलने से रोक दिया। भारत सरकार ने कोरोना मामलों में वृद्धि के बाद कई राज्यों में सख्त नियम लागू किए थे।

यह भी पढ़ें -   पाकिस्तान में कोरोना का कहर, संक्रमितों की संख्या 19000 के पार, 440 की मौत

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। खबरों का अपडेट लगातार पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।