विटामिन के की कमी (Vitamin K deficiency) से कौन सा रोग होता है?

विटामिन के की कमी को कैसे दूर करें

Vitamin K deficiency – हमारे शरीर में कई तरह के विटामिन्स की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा कैल्शियम, फॉसफोरस जैसे तत्वों की आवश्यता भी पड़ती है। यह सभी शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं। विटामिन के भी इन्हीं तत्वों में शामिल है। विटामिन के की कमी को आसानी से अपने खानपान में बदलाव लाकर पूरा किया जा सकता है। विटामिन के शरीर में मुख्य रूप से खून के क्लोटिंग (जमना) को रोकने का काम करता है।

विटामिन के की कमी के लक्षण – Symptoms of vitamin k deficiency
  1. चोट या घाव से अधिक खून निकलना
  2. आसानी से खरोंच लगना
  3. मासिक धर्म में अधिक खून निकलना
  4. पाचन क्षेत्र से अधिक खून निकलना
  5. पेशाब में खून आना
  6. नाक या मसूड़ों से बदबू आना
यह भी पढ़ें -   छाछ पीने के फायदे और नुकसान, छाछ कब पीना चाहिए
विटामिन के की कमी के कारण –  Vitamin k deficiency causes

विटामिन के की समस्या के कई कारण हो सकते हैं। निम्न चीजें करने से शरीर में विटामिन के की कमी हो जाती है।

  • एंटीबायोटिक का सेवन अधिक मात्रा में करने से
  • महिला के सिस्टिक फाय्ब्रोसिस से पीड़ित होने से
  • भोजन में विटामिन के का सेवन नहीं करने से
  • लीवर की बीमारी से पीड़ित होने से
  • स्तनपान या माँ का दूध कम मात्रा में पीने से
विटामिन के कमी को कैसे दूर करें – Vitamin K deficiency treatment

खान-पान में बदलाव लाएं। खाने में मुख्य रूप से हरे पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। इसमें विटामिन के प्रयाप्त मात्रा में मौजूद रहता है। पालक, गोभी, ब्रोकली इत्यादि का सेवन किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें -   लहसुन खाने के फायदे और नुकसान- बवासीर और धातु रोग में होता है फायदेमंद

मछली और अंडे का सेवन करें। मछली में विटामिन के मुख्य रूप से पाया जाता है। अंडे को खाने से भी विटामिन के की समस्या दूर होती है।

फलों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें। फलों में अनार, सेब, चकुंदर इत्यादि का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा फलों का जूस पी सकते हैं।


डिस्क्लेमर – यह एक सामान्य जानकारी है। इन सुझावों और जानकारी को किसी मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर ना लें। किसी भी बीमारी के इलाज से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।