तुर्की ने कोरोना के कारण सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें रद्द की

तुर्की

इस्तांबुल। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने घोषणा की है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें रद्द की जाएंगी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को प्रसारित लाइव प्रसारण के दौरान एर्दोगन ने कोविड-19 प्रकोप फैलने से रोकने के लिए नए उपायों की घोषणा करते हुए कहा कि देश भर में शहरों के बीच की यात्रा की अनुमति हर प्रातों के गवर्नर देंगे।

एर्दोगन ने कहा, निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में कम से कम कर्मचारियों के साथ एक लचीली कार्य प्रणाली लागू की जाएगी। उन्होंने कहा कि 30 प्रमुख तुर्की शहरों में एंटी-कोरोना वायरस उपायों को सख्ती से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि आवश्यक हो तो अतिरिक्त सावधानी बरतने के लिए इन शहरों में महामारी परिषद की स्थापना की जाएगी।

राष्ट्रपति ने कहा कि सार्वजनिक परिवहन में गड़बड़ी को रोकने के लिए और सार्वजनिक स्थलों जैसे पिकनिक स्पॉट, जंगलों और पुरातत्व स्थलों को बंद कर दिया जाएगा। इससे एक दिन पहले तुर्की के आंतरिक मंत्री सुलेमान सोयलू ने घोषणा की थी कि 12 शहरों और गांवों को कोविड-19 के प्रकोप से लड़ने के लिए क्वांरटीन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के अध्यक्ष जॉन यरमुथ ने तर्कहीन और विनाशकारी बताया

सोयलू ने एनटीवी ब्रॉडकास्टर को बताया, जब कुछ गांवों या कस्बों में छूत का खतरा अधिक होता है, तो ऐसा निर्णय लिया जा सकता है। तुर्की में वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 92 हो गई है, वहीं यहां 5,698 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

बता दें कि भारत में भी कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 987 तक पहुंच गई है। वहीं भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 23 हो गई है। दूसरी तरफ दिल्ली और आसपास के इलाकों से बड़ी संख्या में मजदूर उत्तरप्रदेश और बिहार के लिए निकल पड़े हैं। आनंद विहार बस अड्डा पर लोगों की भीड़ ने कोरोना की आशंका और बढ़ा दिया है।