राहुल-प्रियंका की रैली, देशद्रोह का मुकदमा, शाहीन बाग में फायरिंग सबकुछ पढ़िए

राहुल-प्रियंका की रैली

दिल्ली की जंगपुरा में राहुल-प्रियंका ने चुनावी रैली में दिखाया दम

दिल्ली विधानसभा चुनाव में सभी पार्टियां जोर-शोर से चुनाव प्रचार में जुटी हुई हैं। बीजेपी की तरफ से खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कमान संभाली हुई है। वहीं दिल्ली के जंगपुरा और संगम विहार में 4 फरवरी को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने चुनावी रैली को संबोधित किया। दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव प्रचार अपने चरम पर है।

4 फरवरी को ही दिल्ली द्वारका में पीएम मोदी ने जमकर दिल्ली की आप सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधा। पीएम मोदी ने दिल्ली की आप सरकार के कामकाज को लेकर कहा कि आप सरकार साढ़े चाल तक सिर्फ बातें करती रही। पीएम मोदी के सभा में भारी संख्या में लोग उपस्थित हुए थे। दिल्ली विधानसभा चुनाव में पहली बार संयुक्त रूप से राहुल-प्रियंका की रैली हुई।


शरजील इमाम के समर्थन में नारा लगाना पड़ा महंगा, उर्वशी चूड़ावाला सहित 51 पर देशद्रोह का मुकदमा

नई दिल्ली। एलजीबीटीक्यू कार्यक्रम में (जो आजाद मैदान में हुआ था) जेएनयू छात्र शरजील इमाम के समर्थन में कथित रूप से राष्ट्र विरोधी नारेबाजी को लेकर मुंबई पुलिस ने सोमवार को सामाजिक कार्यकर्ता उर्वशी चूड़ावाला पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें -   जामिया फायरिंग पर बोले गृहमंत्री, घटना बर्दाश्त के बाहर, करेंगे कठोर कार्रवाई

चूड़ावाला के अलावा 50 अन्य पर भी भारतीय दंड संहिता की धारा-124 ए (देशद्रोह), 153 बी (राष्ट्रीय अखंडता के प्रति पूर्वाग्रहपूर्ण बयान), 505 (लोगों को उकसाने के लिए दिया गया बयान), 34 (साझा इरादा) के तहत मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि इससे पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो डाला गया था जिसमें चूड़ावाला एक फरवरी को एलजीबीटीक्यू कार्यक्रम में कथित रूप से नारे लगाते दिखे थे।

यह भी पढ़ें -   लोकबंधु अस्पताल बना कोरोना लेवल-टू हॉस्पिटल, सिर्फ कोरोना मरीज होंगे भर्ती

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने दो फरवरी को इस संबंध में एक शिकायत दर्ज करायी थी। गौरतलब है कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया और अलीगढ़ में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने को लेकर इमाम को बिहार के जहानाबाद से 28 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।


शाहीन बाग में फायरिंग के बाद सुरक्षा कड़ी, बीएसएफ और रैपिड एक्शन फोर्स  की हुई तैनाती

दिल्ली के शाहीन बाग में हाल ही में हुई फायरिंग की घटना के बाद अब सुरक्षा और कड़ी कर दी गई। शाहीन बाग में  रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर दिया गया है और बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के जवान भी शाहीन बाग पहुंच गए हैं। शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करते हुए 52 दिनों से धरना जारी है।

यह भी पढ़ें -   जानिए क्यों नीतीश सरकार क्वारंटाइन सेंटर में बंटवा रही है कंडोम

सोमवार को शाहीन बाग और जामिया में हुई गोलीबारी के बाद इलाके में  रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर दिया गया। वहीं, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के जवान भी शाहीन बाग पहुंचे हैं। फोर्स की तैनाती एहतियात के तौर पर की गई है। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि सरकार जबतक यह कानून वापस नहीं लेती, तबतक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा।

शाहीन बाग में फायरिंग की जांच भी दिल्ली पुलिस कर रही है। जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को अहम सुराग मिले हैं। बताया जा रहा है कि शाहीन बाग में गोलियां चलाने वाला शख्स आप से जुड़ा हुआ है। घटना में आप का नाम सामने आने के बाद राजनीति फिर से तेज हो गई है।