देश के मिलेगा नया राष्ट्रपति, गुरुवार को होगा इस महामुकाबले का खुलासा

New President disclosure great book meera kumar ramnath kowind
  • गुरुवार को शाम 5 बजे के बाद ये साफ हो जाएगा कि देश का अगला राष्ट्रपति कौन होगा। 17 जुलाई को हुए मतदान का गुरुवार 20 जुलाई को गिनती होने वाली है।

नई दिल्ली। गुरुवार को शाम 5 बजे के बाद ये साफ हो जाएगा कि देश का अगला राष्ट्रपति कौन होगा। 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव के लिए हुए मतदान के बाद गुरुवार 20 जुलाई को वोटों की गिनती होने वाली है। वोटों की गिनती संसद के रूम नम्बर 62 में होगी। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष और सत्तापक्ष दोनों ने खूब मेहनत की है। हालांकि ये तो 20 जुलाई को ही साफ हो पाएगा कि किसका पलड़ा भारी है। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के तरफ से रामनाथ कोविंद तो विपक्ष की तरफ से मीरा कुमार राष्ट्रपति चुनाव में प्रमुख दावेदार हैं।

यह भी पढ़ें -   केंद्र सरकार की मुश्किलें बढ़ी, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग संशोधन विधेयक राज्यसभा में पास

Read Also: शर्मनाक! कलियुग में पत्नी बनी ‘द्रोपदी’, जुए में पत्नी को हारा पति

लोकसभा के सेक्रेटरी जनरल अनूप मिश्रा के मुताबिक वोटों की गिनती सुबह 11:00 बजे से शुरू होगी और शाम लगभग 4:00 से 5:00 बजे के बीच नतीजे आने की उम्मीद है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए देश में कुल 32 जगहों पर मतदान हुआ था। जिसमें से 29 राज्य और दिल्ली, पुडुचेरी समेत दो केंद्र शासित प्रदेश और संसद भवन शामिल है।

यह भी पढ़ें -   मीरा कुमार ने राष्ट्रपति चुनाव में जातिगत राजनीति पर चिंता जताई

Read Also: खुशखबरी: अब IRCTC एप से होगी फ्लाइट टिकट की बुकिंग

वोटों की गिनती कुल 8 राउंड में होंगे। इनमें सबसे पहले जहां के वोटों की गिनती होगी उनमें अरुणाचल प्रदेश, असम, आंध्र प्रदेश और बिहार शामिल है। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में 99 प्रतिशत से ज्यादा की वोटिंग हुई है। भारत के अगले राष्ट्रपति के लिए 4083 विधायकों ने और 768 सांसदों ने वोट डाला। राष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सांसद और विधान सभा के सदस्य मतदान करते हैं।

Read Also: सिर्फ 6000 रूपये के लिए कर दिया इस अभिनेत्री का मर्डर

यह भी पढ़ें -   नीतीश का छलका दर्द, बोले- जीएसटी मेगा इवेंट का नहीं मिला न्योता

भारत के राष्ट्रपति चुनाव में एक सांसद का वोट मूल्य 708 होता है जबकि विधायकोंं के वोट का मूल्य उनके राज्य पर निर्भर करता है। वोटों की जब गिनती होगी तो सबसे पहले संसद भवन के वोटों की गिनती होगी। उसके बाद राज्य में मतदान केंद्रों पर डाले गए वोटों की गिनती होगी। राज्यों का बक्सा अल्फाबेटिकल ऑर्डर पर खोला जाएगा। हालांकि ऐसा अनुमान जताया जा रहा है कि संख्याबल के हिसाब से एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ही राष्ट्रपति चुनाव जीतेंगे।

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *