शुक्रवार को संतोषी माँ की पूजा कैसे करें, जानिए व्रत के लाभ

संतोषी माँ की पूजा शुक्रवार को कैसे करें?

शुक्रवार को संतोषी माँ की पूजा कैसे करें? शुक्रवार के दिन माँ दुर्गा की पूजा के साथ-साथ संतोषी माता का व्रत भी किया जाता है। इसके अलावा शुक्रवार के दिन वैभवलक्ष्मी देवी की पूजा भी की जाती है। कहा जाता है कि जो स्त्री शुक्रवार को संतोषी माँ की पूजा और व्रत करती हैं, उन्हें जीवन में कभी कोई कष्ट नहीं होता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
संतोषी माता व्रत विधि

शुक्रवार के दिन सूर्योदय से पहले उठकर घर की साफ-सफाई करना चाहिए। घर की साफ-सफाई के बाद स्नानादि से निवृत्त होकर घर के किसी पवित्र स्थान पर संतोषी माता की मूर्ति या चित्र को स्थापित करें।

यह भी पढ़ें -   शनिवार को सुंदरकांड का पाठ ऐसे करें, शनिदेव की कुदृष्टि रहेगी कोसों दूर

इसके बाद पूजन सामग्री और शुद्ध जल किसी बड़े पात्र में भरकर रख लें। फिर जल भरे हुए पात्र पर गुड़ और चने से भरा हुआ दूसरा पात्र रखें। अब इसके बाद संतोषी माता की विधि-विधान से पूजा करें। फिर संतोषी माता की कथा सुनें।

संतोषी माता की कथा सुनने के बाद आरती करें और सभी को गुड़-चने का प्रसाद बांटें। अंत में बड़े पात्र में भरे जल को घर में सभी जगहों पर छिड़क दें और बचे हुए जल को तुलसी के पौधे में डाल दें। इसी प्रकार से 16 शुक्रवार का व्रत नियमित रूप से करें।

यह भी पढ़ें -   घर में चाहते हैं माँ लक्ष्मी का वास तो शुक्रवार को भूलकर भी न करें यह काम

अंतिम शुक्रवार को व्रत का विसर्जन करना चाहिए। विसर्जन करने के बाद विधि अनुसार संतोषी माता की पूजा करने के बाद 8 बालकों को खीर-पुरी का भोजन कराना चाहिए। उसके बाद दक्षिणा और केले का प्रसाद देकर उन्हें विदा करना चाहिए। अंत में खुद भी भोजन को ग्रहण करें।

संतोषी माँ की पूजा के दौरान क्या नहीं करें?
  • शुक्रवार के दिन व्रत करने वाले स्त्री-पुरुष खट्टी चीजों का सेवन और स्पर्श ना करें।
  • संतोषी माता की पूजा के बाद गुड़ और चने का प्रसाद बांटना चाहिए और खुद भी खाना चाहिए।
  • भोजन में किसी भी प्रकार की खट्टी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। अचार और खट्टे फल इस दिन वर्जित होते हैं।
  • व्रत करने वाले के परिवार के लोग भी इस दिन खट्टी चीजों का सेवन ना करें।
यह भी पढ़ें -   सबरीमाला मंदिर में हालात बदतर, 72 भक्तों को गिरफ्तार किया गया
संतोषी माता की पूजा करने के लाभ
  • संतोषी माँ की पूजा करने से भक्तों को निश्चित फल की प्राप्ति होती है। व्रत करने वाले स्त्री-पुरुष की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।
  • विद्यार्थियों को परीक्षा में सफलता मिलती है। न्यायालय में विजय, व्यवसाय में लाभ और घर में सुख समृद्धि आती है।
  • शुक्रवार का व्रत करने से अविवाहित लड़कियों को जल्द ही सुयोग्य वर की प्राप्ति होती है।
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।