35A पर महबूबा ने दिखाए सख्त तेवर, कहा-छेड़छाड़ बारूद को हाथ लगाने के बराबर

35A-in-jammu-and-kashmir

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के हाल ही में कश्मीर में सुरक्षा बलों के बढ़ोतरी को 35ए (35A in Jammu and Kashmir) के समाधान के कदम के रूप में देखा जा रहा है। वहीं अब जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने धमकी भरे लिहाज में कहा कि 35ए से छेड़छाड़ बारूद को हाथ लगाने के बराबर होगा। उन्होंने कहा कि जो हाथ इससे छेड़छाड़ (35A in Jammu and Kashmir) के लिए उठेंगे और हाथ ही नहीं बल्कि सारा जिस्म जलकर राख हो जाएगा।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

महबूबा मुफ्ती ने पीडीपी की 20वीं स्थापना दिवस पर कहा कि हम आखिरी सांस तक कश्मीर की रक्षा के लिए लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि कश्मीर के शहीद हुए लोगों को याद करने की जरूरत है। हमें एक बड़ी लड़ाई लड़ने के लिए तैयार रहने की जरूरत है। महबूबा ने कार्यकर्ताओं के सबोधित करते हुए कहा कि चुनाव आते हैं और चले जाते हैं। हमें असली लड़ाई जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे (Jammu and Kashmir special Status) के लिए लड़ना है।

यह भी पढ़ें -   गोरखपुर और फुलपुर में कम वोटिंग से बढ़ी पार्टियों की धड़कनें

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए महबूबा ने कहा कि हम  राज्य की स्थिति को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि अपने पास जो हैं उसकी कश्मीरियों को रक्षा करनी चाहिए। हमारे पास संविधान है। उन्होंने कहा कि हमारे पास ऐसा दर्जा है कि बाहरी लोग यहां पर प्रॉपर्टी नहीं खरीद सकते हैं।

उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर बैंक को समाप्त कर दिया गया। धीरे-धीरे वे सबकुछ खत्म करना चाहते हैं। घाटी में डर का माहौल है। हम दिल्ली से कहना चाहते हैं कि 35ए से छेड़छाड़ बारूद को छूने जैसा है।

यह भी पढ़ें -   महबूबा ने दी चेतावनी, धारा 370 हटा तो कश्मीर में तिरंगा लहराने वाला कोई नहीं होगा

बता दें कि 35ए जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करता है और इसके मुताबिक देश के अन्य राज्यों के लोग इस राज्य में जमीन का टुकड़ा नहीं खरीद सकते हैं। यह जम्मू-कश्मीर के लोगों को विशेष दर्जा प्रदान करता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।