मेड इन इंडिया: पहली बार विमान उड़ेगा 19 यात्रियों को लेकर आसमान में

नई दिल्ली। स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए किये जा रहे केंद्र सरकार के प्रयास को अब पंख लगना शुरू हो गया है। पहली बार भारत में बना विमान आसमान में उड़ेगा। विमान की क्षमता 19 यात्रियों की है। यह विमान स्वदेशी तकनीक से निर्मित है। इसे सरकारी कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने बनाया है। यह एक डॉर्नियर विमान है और विमान ने परीक्षण को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है।

डॉर्नियर-228 विमान को नागरिक उड्डयन महानिदेशायल (डीजीसीए) ने व्यावसायिक उड़ान की अनुमति दे दी है। सशस्त्र बल पहले से ही इस विमान का प्रयोग कर रही है। हाल ही में कानपुर हवाई अड्डे पर इसका सफल परीक्षण पूरा कर लिया गया। बता दें कि कानपुर स्थित एचएएल का 1960 से ही ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट डिवीजन है। यह पहला मौका है जब किसी घरेलू कंपनी द्वारा निर्मित विमान को डीजीसीए ने कमर्शियल उड़ान की मंजूरी दी है।

यह भी पढ़ें -   नीति आयोग से अरविंद पनगढ़िया ने दिया इस्तीफा, लौटेंगे शिक्षा क्षेत्र में वापस

पढ़ें: एक विरासत: आधुनिक भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद

डीजीसीए की मंजूरी मिलने के बाद अब एचएएल भारत में कई एयरलाइंस कंपनियों को इसकी ब्रिक्री कर सकेगी। अधिकारियों के मुताबिक, इस विमान के इस्तेमाल में कुछ छूट भी दी सकती है ताकि देश में स्वदेशीकरण को बढ़ावा दिया जा सके। कंपनी इस विमान को निर्यात करने के बारे में भी सोच रहा है। एचएएल इस विमान का निर्यात नेपाल और श्रीलंका को कर सकती है।

यह भी पढ़ें -   भारत से व्यापारिक रिश्ता तोड़कर मुश्किल में पाकिस्तान

डॉर्नियर-228 का इस्तेमाल एक एयर टैक्सी के रूप में किया जा सकता है। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के प्रयाशों के मद्देनजर इसे एक बेहतरीन सफलता कहा जा सकता है। इससे देश में स्वदेशीकरण को बढ़ावा मिलेगा और देश की निर्भरता भी दूसरे देशों में कम किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें:

आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं तो हो जाइए सावधान

ये है अमेरिका का एरिया 51, दफन हैं कई अनसुलझे राज !

यह भी पढ़ें -   श्रीलंका के साथ समझौते से सामने आया चीन का चेहरा, पाकिस्तान के लिए खतरे की घंटी

दुनिया का सबसे खतरनाक देश है पाकिस्तान, जानें कितने नंबर पर है भारत


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *