यूपी में फिर हाथरस जैसी घटना, पीड़िता की अस्पताल ले जाते समय मौत

बलरामपुर में दुष्कर्म

लखनऊ। यूपी के हाथरस में हुए गैंगरेप की घटना की आग अभी शांत भी नहीं हुई थी कि वहीं राज्य के बलरामपुर में भी इसी तरह का वारदात सामने आया है। बलरामपुर में एक 22 वर्षीय छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। घटना के बाद पूरे इलाके रोष व्याप्त है। बताया जा रहा है कि पीड़िता की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। मामला बलरामपुर के कोतवाली गैंसड़ी क्षेत्र का है।

घटना के बाद बलरामपुर के पूरे इलाके को छावनी में तबदील कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि दरिदों ने छात्रा की कमर और पैर तोड़ दिए थे। पीड़िता की मां ने कहा कि उनकी बेटी मंगलवार सुबह 10 बजे बिमला विक्रम कॉलेज के लिए निकली थी। वह कॉलेज बीकॉम प्रथम वर्ष में दाखिला लेने गई थी। घर वापसी में देर होने पर जब फोन मिलाया तो बात नहीं हो सकी। बाद में रात पौने 8 बजे वह विक्षिप्त हालत में घर पहुंची।

छात्रा की माँ ने बताया कि उसे एक रिक्शे वाले ने घर छोड़ा था। घर पहुंचने के बाद छात्रा ने अपने पेट में दर्द होने की बाद माँ को बताई। वह कह रही थी कि उसके पेट में तेज जलन हो रही है। वह अधिक बात करने की स्थिति में नहीं है। उसके हाथ में पट्टी लगी थी। ऐसा लग रहा था कि वह कहीं से अपना इलाज करवा कर आई हो।

छात्रा की हालत गंभीर देखकर माँ ने उसे एक प्राइवेट डॉक्टर के पास ले गई। चिकित्सक ने छात्रा की हालत को देखते हुए उसे तुलसीपुर सीएचसी ले जाने की सलाह दी। लेकिन सीएचसी ले जाते समय ही छात्रा की रास्ते में ही मौत हो गई।

छात्रा की माँ का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। उसे अगवाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया है। पोल खुलने के डर से दरिंदों ने छात्रा की कमर और दोनों पैर को तोड़कर और जहर देकर मारने की कोशिश की। हालांकि इस संबंध में बलरामपुर पुलिस ने सभी आरोपो से इंकार किया है।

अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई करें योगी सरकार – अखिलेख यादव

घटना के बाद यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए तुरंत कार्रवाई की माँग की है। उन्होंने कहा कि हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न का घृणित अपराध हुआ है व घायलावस्था में पीड़िता की मृत्यु हो गई है। श्रद्धांजलि! भाजपा सरकार बलरामपुर में हाथरस जैसी लापरवाही व लीपापोती न करे और अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई करे।