‘मेक इन इंडिया’ को मिली ताकत, सेना खरीदेगी 14 हजार करोड़ रुपये की स्वदेशी मिसाइल

आकाश डिफेंस मिसाइल सिस्टम

भारतीय सेना अपनी रक्षा क्षमता को बढ़ाने के लिए 14 हजार करोड़ रुपये की स्वदेशी मिसाइल और हेलिकॉप्टर खरीदेगी। मेक इन इंडिया के तरह यह खरीददारी भारतीय सेना करेगी। मेक इन इंडिया के तहत भारतीय सेना आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की दो रेजिमेंट और 25 उन्नत हल्के हलिकॉप्टर (एएलएच) की खरीदारी करेगी।

भारतीय सेना ने आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम के साथ अन्य समानों की खरीददारी के लिए सरकार के पास कुल 14000 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजा है। सरकारी सूत्रों ने एएनआई के हवाले से कहा कि भारतीय सेना ने प्रस्ताव को रक्षा मंत्रालय के पास भेज दिया है। प्रस्ताव को जल्द मंजूरी मिल सकती है।

यह भी पढ़ें -   इंडिया के पास कितने हाइड्रोजन बम है? जानें हाइड्रोजन बम की ताकत

ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जल्द ही इस संबंध में एक हाई लेवल बैठक करेंगे। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, आकाश-एस मिसाइल एक स्वदेशी हथियार के साथ-साथ यह आकाश मिसाइल प्रणाली का एक नया संस्करण है।

30 किमी दूर से ही दुश्मनों का काम तमाम

आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम 25-30 किमी दूर से ही दुश्मनों के विमान और क्रूज मिसाइल को खत्म करने में सक्षम है। इस मिसाइल की खास बात यह है कि मिसाइल लद्दाख जैसे अत्यधिक ठंड के मौसम में भी दुश्मनों का जवाब देने में सक्षम है।

यह भी पढ़ें -   कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, कहा - आप रोक लगाएंगे या हम लगाएं?

आकाश-एस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम मिसाइल चीन और पाकिस्तान की सीमाओं के साथ पहाड़ी और अन्य क्षेत्रों में भारतीय सेना की सभी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है। आकाश मिलाइल सिस्टम को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है। बता दें कि भारतीय सेना में आकाश मिसाइल पहले से ही सेवा दे रही है।

आकाश मिसाइल के साथ-साथ भारतीय सेना अपने विमानन स्क्वाड्रनों के लिए 25 एएलएच ध्रुव मार्क 3 हेलीकॉप्टर खरीदने पर भी विचार कर रहा है। भारतीय सेना की सूची में कई हथियार और उपकरण का खरीद शामिल है और इसका निर्माण भारत में ही किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें -   24 घंटो के भीतर सुरक्षाबलों ने 9 आतंकियों को किया ढ़ेर, एक जवान शहीद

बता दें कि भारत सरकार मेक इन इंडिया के तहत भारतीय वायुसेना के लिए तेजस विमान का भी निर्माण कर रही है। तेजस एक हल्का लड़ाकू विमान है जो हर मौसम में मार करने में सक्षम है। तेजस लड़ाकू विमान तीनों सेनाओं के पास मौजूद हैं।