कोरोना के बाद भारत में अफ्रीकी फ्लू की दस्तक, चीन से फैला यह रोग

अफ्रीकी फ्लू

नई दिल्ली। दुनियाभर में लोग इस समय एक घातक कोरोना वायरस नामक बीमारी से जूझ रहे हैं। इसी बीच भारत में एक और घातक बीमारी अफ्रीकन स्वाइन फ्लू की दस्तक हो चुकी है। इस बीमारी ने असम में अपना कहर बरपना आंरभ कर दिया है। बता दें कि इस बीमारी से असम मे अब तक 2500 सूअरों का मौत हो चुकी है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

असम सरकार के अनुसार राज्य में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू से 2,500 से ज्यादा सूअर मारे जा चुके हैं। खबरों के मुताबिक असम के पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य सरकार केंद्र से मंजूरी होने के बाद भी तुरंत सूअरों को मारने के बजाय इस घातक संक्रामक बीमारी से पार पाने के लिए कोई दूसरा रास्ता अपनाएगी।

यह भी पढ़ें -   दिल्ली के अस्पतालों में दिल्लीवालों का इलाज, केजरीवाल के 'न्याय' पर भड़का विपक्ष

चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा के कहे अनुसार राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान (एनआईएचएसएडी) भोपाल ने पुष्टि की है कि यह अफ्रीकी स्वाइन फ्लू (एएसएफ) है।

कहां से फैला यह फ्लू?

चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा ने बताया कि इस बीमारी की शुरूआत अप्रैल 2019 में  चीन के जियांग प्रांत के एक गांव में हुई थी जो अरूणाचल प्रदेश का सीमावर्ती है और ऐसा लगता है कि ये बीमारी चीन से अरूणाचल होते हुए असम तक पहुँच गई है।

हालांकि उन्होंने कहा कि इस बीमारी का  कोरोना वायरस यानि COVID-19 से कोई लेना-देना नहीं है। असम सरकार के 2019 की गणना के अनुसार, असम में कुल सुअरों की संख्या करीब 21 लाख थी जो अब बढ़कर करीब 30 लाख हो गई है।

यह भी पढ़ें -   हलाला के आढ़ में मुस्लिम मौलवी बनाते हैं बुर्कानशीं औरतों से नाजायज संबंध
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।