दिल्ली में हिंसा के मुद्दे पर एलजी से मिलने पहुंचे गोपाल राय, नहीं हुई मुलाकात

दिल्ली में हिंसा

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय उत्तर पूर्वी दिल्ली में फैली हिंसा के मुद्दे पर चर्चा के लिए उपराज्यपाल के आवास पर पहुंचे, हालांकि यहां गोपाल राय की उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात नहीं हो सकी। उपराज्यपाल की ओर से स्पेशल कमिश्नर रैंक के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यहां पहुंचे लोगों से मुलाकात की और उन्हें शांति बहाली का आश्वासन दिया।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री बाबरपुर के स्थानीय विधायक गोपाल राय ने कहा, अन्तोगत्वा उपराज्यपाल साहब हमसे नहीं मिले। उपराज्यपाल अनिल बैजल के प्रतिनिधि के रूप में स्पेशल पुलिस कमिश्नर ने आकर बात की। गोपाल राय आम आदमी पार्टी के कुछ अन्य नेताओं के साथ सोमवार देर रात उपराज्यपाल से मिलने पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें -   दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके, लगातार डोलती दिल्ली जोन 4 में शामिल

दरअसल गोपाल राय दिल्ली सरकार में मंत्री होने के साथ-साथ हिंसा ग्रस्त क्षेत्र बाबरपुर के स्थानीय विधायक भी हैं, गोपाल राय के मुताबिक इलाके में फैली हिंसा शांत करवाने के लिए वह उपराज्यपाल से मिलने आए थे। दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अधीन है, इसलिए गोपाल राय एवं उनके साथ आए आम आदमी पार्टी के अन्य नेता उपराज्यपाल से मिलकर इलाके में शांति बहाली पर चर्चा करना चाहते थे।

गोपाल राय ने कहा, उपराज्यपाल साहब के प्रतिनिधि स्पेशल कमिश्नर राजेश खुराना ने एलजी हाउस के बाहर मौजूद लोगों को जनता की सुरक्षा का आश्वासन दिया है। पुलिस की बात मानकर हम वापस घर जा रहे हैं। अगर फिर कोई घटना हुई तो पुन: हम उपराज्यपाल साहब के निवास पर पहुचेंगे।

यह भी पढ़ें -   Delhi Election 2020: अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर साधा निशाना, पूछा...

गौरतलब है कि सोमवार दोपहर से ही उत्तर पूर्वी दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में हिंसा और आगजनी की वारदातें हो रही है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में मंगलवार सुबह भी हिंसा व पत्थरबाजी की कई छुटपुट वारदातें होती रही।

मौजपुर, बाबरपुर, जाफराबाद, गोकुलपुरी, बृजपुरी आदि इलाकों में पुलिस व रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती की गई है। बावजूद इसके इन क्षेत्रों के कई अंदरूनी इलाकों में आपसी भिड़ंत व एक दूसरे पर पत्थरबाजी की वारदातें अभी भी अंजाम दी जा रही हैं।


देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। खबरों का अपडेट लगातार पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।