सुकन्या समृद्धि योजना या पीपीएफ, कौन है बेहतर, किसमें मिलेगा अधिक लाभ, जानें

सुकन्या समृद्धि योजना

PPF vs SSY Who is Best? आज के समय में निवेश के लिए कई प्रकार के आप्शन उपलब्ध हैं। लेकिन सुकन्या समृद्धि योजना और पीपीएफ दो ऐसे निवेश के प्रकार हैं जो लोगों के बीच काफी पॉप्युलर है। यदि आप अपनी बेटी के भविष्य के लिए निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो आज आपको बताएंगे कि पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजना में से किसमें आपको ज्यादा लाभ मिलेगा?

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

सुकन्या समृद्धि योजना एक केंद्रीय योजना है जो लड़कियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए लाया गया है। अपनी बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए इसमें आप निवेश कर सकते हैं। आईए जानते हैं कि पीपीएफ में निवेश करने से फायदा है या फिर सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करने से फायदा है?

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना खास तौर पर बेटियों के लिए शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत आप अपनी बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए निवेश कर सकते हैं। ब्याज की बात करें तो इसमें पीपीएफ की तुलना में अधिक ब्याज मिलता है। हालांकि इस स्कीम का लॉकइन पीरियड 21 साल है।

यह भी पढ़ें -   Pm Krishi Sinchai Yojana: किसानों के लिए सरकार ने खोला खजाना, जानें कैसे लें इसका लाभ?

इस योजना में निवेश करने पर आप इसके पैसे को 21 साल के बाद ही निकाल पाएंगे। इसका मतलब यह है कि जब तक आपकी बेटी 18 साल की नहीं हो जाती है तब तक आप सुकन्या अकाउंट से पैसे नहीं निकाल पाएंगे।

बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना एक टैक्स फ्री स्कीम है जिसमें स्कीम की मैच्योरिटी पर मिलने वाले पैसे और ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगता है। खास बात यह है कि इस स्कीम में केवल 15 साल तक ही निवेश करना होता है।

यह भी पढ़ें -   Beti Bachao Beti Padhao Hindi Essay: बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध

पीपीएफ योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना के विपरीत पीपीएफ एक लांग टर्म इन्वेस्टमेंट स्कीम है। यह स्कीम भी केंद्र सरकार द्वारा ही शुरू किया गया है। पीपीएफ स्कीम की ब्याज दर निश्चित होती है और इसका लॉक इन पीरियड 15 साल का होता है।

इस स्कीम की खास बात यह है कि इसमें टैक्स बेनिफिट का लाभ मिलता है। जिस व्यक्ति ने इस स्कीम के तहत निवेश किया है, वो आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत टैक्स डिडक्शन के लिए क्लेम कर सकता है।

इस स्कीम में मैच्योरिटी के बाद मिलने वाली राशि और अर्जित ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगता है। इसके अलावा इसमें लोन और प्रीमेच्योर विड्रोल की सुविधा भी मिलती है।

SSY vs PPF: किसमें करें निवेश?

निवेश की बात आती है तो यहां आपको अपनी जरूरत के अनुसार निवेश करना होगा। यदि आप अपनी बेटी के लिए नॉर्मल कोई सेविंग प्लांट ढूंढ रहे हैं तो आपको पीपीएफ में निवेश करना चाहिए। इसमें लोन और प्रीमेच्योर विड्रोल की सुविधा मिलती है।

यह भी पढ़ें -   यदि आप भी हैं लड़की के पिता तो सरकार देगी 50000, जल्दी भरें फॉर्म - Kanyadan Yojana

वहीं दूसरी तरफ यदि आप अपनी बेटी के भविष्य के लिए कोई फाइनेंशियल स्टेबल प्लान ढूंढ रहे हैं तो आपको सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करना होगा। इसमें आप अपनी बेटी की शिक्षा, विवाह और ओवरऑल खर्चों के लिए निवेश कर सकते हैं।

बता दें कि इन दोनों ही स्कीम में किसी भी प्रकार का कोई जोखिम नहीं है और इसकी राशि पूरी तरह से टैक्स फ्री है। इसमें निवेश करने पर रिटर्न की गारंटी का लाभ मिलता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।