सपा सांसद आज़म खान मुश्किल में, 13 मामलों में चार्जशीट दाखिल

SP MP Azam Khan in tough

नई दिल्ली। सपा सांसद आज़म खान की मुश्किलें (SP MP Azam Khan in tough) बढ़ने लगी हैं। 13 मामलों में आज़म खान के खिलाफ (SP MP Azam Khan in tough) चार्जशीट दाखिल किया गया है। यह चार्जशीट आज़म खान के संसदीय क्षेत्र रामपुर में दाखिल की गई हैं। बता दें कि आज़म खान के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन और आपत्तिजनक भाषण देने के मामले में पहले भी मुकदमें दायर हो चुके हैं।

पुलिस ने विवेचना के बाद आज़म खान के खिलाफ 13 मामलों में चार्जशीट दाखिल की है। विविद हो कि इससे पहले आज़म खान पर लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा को लेकर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में भी चार्जशीट फाइल की थी। आज़म खान ने यह टिप्पणी 14 अप्रैल को की थी। 14 अप्रैल को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज़म खान के समर्थन में जनसभा की थी।

14 अप्रैल सपा की जनसभा में आज़म खान ने कहा था कि जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिससे अपने इलाके का प्रतिनिधित्व कराया। उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे… मैं सात दिन में पहचान गया कि इनके…। बीजेपी नेता जया प्रदा इससे पहले सपा की टिकट पर 2004 और 2009 में रामपुर की सांसद रह चुकी हैं।

यह भी पढ़ें -   Unnao Case: उत्तर प्रदेश से उन्नाव केस दिल्ली स्थानांतरित, 7 दिन में जांच का आदेश

2010 में सपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में उन्हें पार्टी के बाहर कर दिया गया था। आज़म खान इन दिनों भूमि विवाद और अभद्र टिप्पणियों को लेकर मुश्किल में हैं। आज़म खान लोकसभा में पीठासीन महिला सासंद रमा देवी के खिलाफ भी अभद्र टिप्पणी की थी। जिसके बाद रमा देवी ने कहा था कि वो सपा सांसद आज़म खान की माफी से संतुष्ट नहीं होंगी।

इससे पहले रामपुर में आज़म खान के खिलाफ एक पुल गिरवाने के आरोप में राज्यपाल राम नाईक ने जरूरी कार्रवाई के लिए कहा था। इसके लिए राज्यपाल राम नाईक ने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को इस मामले में पत्र भी लिखा था। आज़म खान जौहर विश्वविद्यालय के लिए अवैध जमीन कब्जे को लेकर मुकदमें का सामना कर रहे हैं। राज्यपाल राम नाईक ने उनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश भी दिए हैं।

Rajendra Prasad ki Virasat: आधुनिक भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद