रेलवे को मिला 1.10 लाख करोड़, रेलवे प्रणाली 2030 पेश किया गया

भारतीय रेल बजट

नई दिल्ली। 1 फरवरी 2021 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश किया। उन्होंने बजट में भारतीय रेल बजट के लिए बड़ा ऐलान किया। भारतीय रेलवे के लिए सरकार ने विशेष पैकेज की घोषणा की।

वित्तमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि रेलवे के लिए रिकॉर्ड 1,10,055 करोड़ रुपए प्रदान किये गए हैं। इनमें से 2021-22 में पूंजीगय व्यय के लिए 1,07,100 करोड़ रूपए हैं।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारतीय रेलवे का 2023 के दिसंबर तक सभी पटरियों का विद्दुतीकरण का काम पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा, ‘भारतीय रेलवे ने 2030 में भारत के लिए एक राष्ट्रीय रेल योजना तैयार की है। यह योजना 2030 तक भविष्य के लिए तैयार रेलवे प्रणाली बनाने की है। मेक इन इंडिया को सक्षम बनाते हुए उद्योग के लिए लॉजिस्टिक लागत को कम करना इसका उद्देश्य है।’

यह भी पढ़ें -   आज से पटरी पर दौड़ेगी 200 ट्रेनें, यात्रा करने से पहले जानिए क्या है शर्तें

मेट्रो परिचालन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक बस परिवहन में वृद्धि के लिए 18,000 करोड़ से एक नई योजना लांच किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में 702 किलोमीटर की परंपरागत मेट्रो रेल परिचालन में है। 1,016 किमी नई मेट्रो और आरआरटीएस देश के 27 शहरों में निर्माणाधीन है। कोच्चि मेट्रो रेलवे फेज 2 पर काम शूरु किया जाएगा। इसकी लंबाई 11.5 किमी है। इसपर कुल 1 हजार 957 करोड़ रूपए का खर्च आएगा।

इससे अलावा देश में नेशनल हाईवे पोजेक्ट के अंतर्गत पश्चिम बंगाल में 675 किमी राजमार्ग का निर्माण किया जाएगा। इसपर 25,000 करोड़ रुपए की लागत खर्च की जाएगी। केरल में 1,100 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए 65,000 करोड़ रुपए निवेश किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें -   इन ट्रेनों में रेलवे लगाएगी अतिरिक्त कोच, यात्रियों को होगा बड़ा फायदा