पीएनबी का महाघोटाला : मामा और भांजे का पासपोर्ट रद्द, बेनामी संपत्तियों खंगालने में जुटा ईडी

नई दिल्ली। पीएनबी के महाघोटाले में एक बड़ी कार्रवाई करते हुए इस घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है। इसके साथ ही दोनों को भगौड़ा घोषित करने की भी तैयारी चल रही है। शनिवार को दोनों का पासपोर्ट रद्द किया गया।नीरव मोदी के साथ-साथ उनके मामा और गहना कारोबारी, गीतांजलि ज्वेलर्स के प्रमोटर मेहुल चोकसी का भी पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने जानकारी दी कि उन्हें पासपोर्ट रद्द करने के संदर्भ में ई-मेल से कारण बताओ नोटिस भेजा गया था। इसके लिए नीरव मोदी को एक सप्ताह का समय दिया गया था। यह अवधि बीत जाने के बाद शनिवार को नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के पासपोर्ट को अवैध घोषित कर दिया गया।

हालांकि ये सभी अभी कहां पर इस बारे में विदेश मंत्रालय कुछ भी कहने में असमर्थ है। मंत्रालय के मुताबिक, संवाद के लिए उनके पास केवल ई-मेल का पता ही है। अन्य कोई जानकारी अभी तक नहीं मिली है।

यह भी पढ़ें -   व्हाइट हाउस में उस वक्त मचा हड़कंप जब ट्रंप के कार्यक्रम में कोरोना की पुष्टि हुई

सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल का कहना है कि मामला जटिल है। जांच एजेंसी अभी इस धोखाधड़ी के अपराध की जटिलता की तह में जा रही है। जांच एजेंसी यह आंकने में व्यस्त है कि धोखाधड़ी किस स्तर की है। इसमें कितने नियम तोड़े गए, कितनी जालसाजी हुई और किस तरह से बैंक के अधिकारियों ने नियम से परे जाकर सहयोग किया।

सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय दोनों केन्द्रीय जांच एजेंसियां लगातार नीरव मोदी, मेहुल चोकसी पर सहयोग करने का दबाव बना रही हैं।बता दें कि विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। जिसका जवाब न आने की स्थिति में दोनों का पास्पोर्ट रद्द कर दिया गया।

यह भी पढ़ें -   ममता बनर्जी ने किया इसरो वैज्ञानिकों का अपमान, कहा- यह सब...

यह भी पढ़ें-

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

हरियाणा के फरीदाबाद में लड़की के भूत ने बताया अपने कब्र का पता

क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें