न्यूजीलैंड टेस्ट में हार को लेकर लोग जैसा सोचते हैं वह वैसा नहीं सोचते- विराट कोहली

न्यूजीलैंड टेस्ट

वेलिंग्टन। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने माना है कि उनकी टीम को न्यूजीलैंड ने बेसिन रिजर्व मैदान पर खेले गए पहले टेस्ट मैच में एकतरफा हराया। लेकिन कोहली ने कहा कि जैसे लोग इसे बड़ी हार मान रहे हैं, वहीं वह ऐसा बिलकुल नहीं सोचते। बता दें कि भारत को न्यूजीलैंड ने पहले टेस्ट में 10 विकेट से हराया और टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली।

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कोहली ने कहा, इस मैच में हमने ज्यादा प्रतिस्पर्धा नहीं दिखाई। अतीत में हमने दिखाया है कि अगर हम हारे भी हैं तो हमने अच्छी क्रिकेट खेली है और हम हमेशा मैच में बने रहे। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि पहली पारी में हमने बल्लेबाजी से अपने आपको काफी निराश किया। न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाया और मेहमान टीम सिर्फ 165 रनों पर ही ढेर हो गई।

कीवी टीम ने अपनी पहली पारी में 348 रन बना भारत पर 183 रनों की बढ़त ले ली। भारतीय टीम दूसरी पारी में 191 रन ही बना सकी और न्यूजीलैंड को जीत के लिए नौ रनों की ही जरूरत पड़ी जिसे उसने बिना विकेट खोए हासिल कर लिया। कोहली ने कहा, हमें समझना होगा कि हम इस मैच में अपने सर्वश्रेष्ठ खेल पर नहीं थे और इस बात को कबूल करने में कोई परेशानी नहीं है।

यह भी पढ़ें -   दुनिया में कोरोना संकट- अब तक सिर्फ 3 बार रद्द हुआ है ओलंपिक

उन्होंने कहा कि हम जब इसे मानेंगे, तभी हम इससे बाहर निकल सकेंगे और अगले मैच में अच्छी मानसिकता और प्रतिस्पर्धा के साथ जाएंगे, जो हमने एक टीम के तौर पर दिखाई है। कप्तान विराट कोहली ने कहा कि हम जानते हैं कि हमने मैच में अच्छा नहीं खेला, लेकिन अगर लोग इसे ज्यादा बढ़ा-चढ़ाकर देखना-बताना चाहते हैं तो हम इसमें कुछ नहीं कर सकते।

आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप में यह भारत की पहली हार है। इस हार के बाद भी भारत टेस्ट चैम्पियनशिप में पहले स्थान पर बनी हुई है। कोहली ने कहा कि वह यह समझने में असमर्थ हैं कि एक हार को ऐसे क्यों देखा जा रहा है जैसे यह दुनिया का अंत हो। उन्होंने कहा, कुछ लोगों के लिए यह दुनिया खत्म होने जैसी बात हो सकती है, लेकिन ऐसा नहीं है। हमारे लिए यह क्रिकेट का खेल है जो हम हार गए और अब हमें इसे आगे बढ़ना है और सिर को ऊँचा रखना होगा।

यह भी पढ़ें -   ICC Asia Cup 2018 की लिस्ट जारी, पाक से इस दिन होगी भारत की भिंड़त

उन्होंने कहा, हम समझते हैं कि जीतने के लिए हमें अच्छा खेलना होगा, घर में भी। अंतर्राष्ट्रीय स्तर आसान नहीं है क्योंकि यहां टीम आती रहती हैं और हारती रहती हैं। आपको यह मानना होगा और यही आपकी टीम का चरित्र बताता है।