स्वास्थ्य मंत्रालय: कोरोना के हल्के लक्षण पर कैसे करें खुद को होम आइसोलेशन?

स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली। देश में कोरोना के चलते देशव्यापी लॉकडाउन-2 की अवधि भी खत्म होने को है, लेकिन कोरोना महामारी से संक्रमित लोगों के आंकड़े देश में लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच कई मामले ऐसे हैं जहां कुछ लोगों में कोरोना के कुछ ही लक्षण हैं यानि उनकी हालत ज्यादा गंभीर नहीं है। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को दिशा-निर्देश जारी किया है।

कि अगर ऐसे लोगों के पास घर में रहने और आराम करने की बेहतर सुविधा है, तो वह होम आइसोलेशन का पालन कर सकते हैं इसके लिए कुछ गाइडलाइन्स जारी की गई हैं जो कि इस प्रकार है…

हल्के संक्रमण वाले मरीज ऐसे कर सकते हैं होम आइसोलेशन

यह भी पढ़ें -   लॉकडाउन 17 मई तक के लिए बढ़ा, जानें क्या -क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

1.अगर डॉक्टर ने किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण की संख्या काफी कम बताई है, तो वह संक्रमण से बचाव के लिए खुद को होम आइसोलेशन कर सकता है।

2.घर पर आइसोलेशन की सुविधाएं होनी चाहिए। साथ में घर में रहने वाले परिवारों की भी अलग रहने की सुविधा होनी चाहिए।

3.होम आइसेलेशन के लिए 24 घंटे के लिए एक सहायक साथ में होना चाहिए, जो लगातार अस्पताल के संपर्क में रहे।

यह भी पढ़ें -   दिल्ली के अस्पतालों में दिल्लीवालों का इलाज, केजरीवाल के 'न्याय' पर भड़का विपक्ष

4.कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले, साथ में रहने वाले व्यक्ति को डॉक्टर की सलाह के अनुसार हाइड्रोक्सीक्लोक्वीन लेनी चाहिए।

5. इस संक्रमण की और जानकारी प्राप्त करने के लिए आरोग्य सेतु ऐप को अपने फोन में डाउनलोड करें।

6.व्यक्ति को लगातार डॉक्टर के संपर्क में रहकर अस्पताल और जिला के मेडिकल अधिकारी को अपनी सेहत की जानकारी देनी होगी।

7.इसके आलावा व्यक्ति को सेल्फ आइसोलेशन के लिए जारी किया गया फॉर्म भरना भी जरूरी है।

यह भी पढ़ें -   कोविड-19 से न्यूयॉर्क में नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला, 10 हजार से अधिक की मौत

इसके अलावा आपको कोरोना से जुड़ी किसी भी प्रकार की कोई भी जानकारी चाहिए तो स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, जबतक मेडिकल अधिकारी आपको कोरोना मुक्त घोषित ना कर दे और आपसे आइसोलेशन खत्म करने को ना कहें, तबतक इसे जारी रखना है।