Lockdown: केरल में गाइडलाइन से अधिक छूट देने पर गृह मंत्रालय ने जताई आपत्ति

Lockdown

नई दिल्ली। 20 अप्रैल से भारत सरकार ने देश के कई इलाकों में लॉकडाउन (Lockdown) में छूट प्रदान किया है। लेकिन केंद्र सरकार ने केरल सरकार द्वारा जारी नई गाइडलाइन के बाद आपत्ति जताई है। गृह मंत्रालय ने कहा है कि राज्य सरकार को केंद्र सरकार की गाइडलाइन्स से अधिक छूट देने का अधिकार नहीं है। इसपर केरल सरकार ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के हिसाब से ही छूट दी गई है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

केरल सरकार के इस कदम पर गृह सचिव अजय भल्ला ने केरल के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर इस संबंध में आपत्ति जताई है। गृह मंत्रालय सख्त लहजे में कहा है कि राज्य सरकार को केंद्र सरकार के गाइडलाइन्स से अधिक छूट देने का अधिकार नहीं है, इसलिए राज्य सरकार को केंद्रीय गाइडलाइन्स का कड़ाई से पालन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   अब बिना यूपीएससी की अनुमति के बगैर नहीं होगी एक्टिंग डीजीपी की नियुक्ति

Lockdown

उधर केंद्र सरकार द्वारा आपत्ति जताए जाने के बाद केरल के मंत्री कड़कम्पल्ली सुरेंद्रन ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा कि हमने केंद सरकार द्वारा जारी गाइलाइन्स का पालन करते हुए ही यह छूट दी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कुछ गलतफहमी की वजह से स्पष्टीकरण मांगा है। स्पष्टीकरण के बाद हमें उम्मीद है कि इस समस्या का हल हो जाएगा।

बता दें कि लाकडाउन (Lockdown) में केरल सरकार ने राज्य में रेस्टोरेंट, किताबों की दुकान और कस्बों में बस यात्रा जैसे छूट प्रदान किए हैं जो वर्तमान स्थिति को देखते हुए खतरनाक कही जा सकती है। देश में लगातार कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए ऐसा करना खतरनाक हो सकता है।

यह भी पढ़ें -   देश में कोरोना के बढ़े मामले, संक्रमित लोगों की संख्या 1600 के पार

देश में रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाए गए हैं। ग्रीन जोन में लोगों को अधिक छूट मिलेगी जबकि ऑरेंज जोन में ग्रीन जोन कम छूट मिलेगी और रेड जोन में छूट की संभावन बहुत ही कम है या फिर नहीं मिलेगी। देश में कई बड़े शहर और बड़े औद्योगिक स्थल कोरोना की मार झेल रहे हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।