फाइटर जेट, जो पलभर में कर सकते हैं सबकुछ तबाह

फाइटर जेट

हन्ट आई न्यूज। दुनिया में आज के वक्त में किसी भी देश की ताकत का अंदाजा उस देश की वायुसेना की ताकत से नापा जाता है। जिस देश की वायुसेना ज्यादा ताकतवर होती है, उस देश की ताकत को पूरी दुनिया मानती है। आज दुनिया के कई देशों के पास कई ऐसे खतरनाक फाइटर जेट हैं जो पलभर में युद्ध के मैदान में तबाही मचा सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही लड़ाकू विमानों के बारे में-

यूरोफाइटर टाइफून- Eurofighter Typhoon सबसे आधुनिक फाइटर प्लेन है। यूरोपीय संघ के देशों के सहयोग से तैयार किया गया यह जेट पांचवी पीढ़ी का विमान है। इसमें आधुनिक सेंसर लगा है और खतरनाक हथियार को ले जाने में विमान को सक्षम बनाया गया है। यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ लड़ाकू विमानों में गिना जाता है। विमान सुपरक्रूज तकनीक से लैस है।

राफेल फाइटर जेट- फ्रांस की वायुसेना की रीढ़ कहा जाने वाला राफेल लड़ाकू विमान दुनिया की सबसे खतरनाक फाइटर प्लेन में से एक है। इसे खासतौर पर युद्ध की जरूरतों के हिसाब से ही बनाया गया है। यह एक मल्टीरोल फाइटर प्लेन है। राफेल की खूबी यह है कि विमान हवा से जमीन, हवा से हवा में लड़ाई कर सकता है। राफेल लड़ाकू विमान अभी तक कई विनाशक मिशन में अपना कमाल दिखा चुका है।

यह भी पढ़ें -   Fighter Aircraft : दुनिया के 6 सबसे खतरनाक लड़ाकू विमान

सुखोई एसयू-35- इसे रूस द्वारा निर्मित किया गया था। इसका इस्तेमाल रूसी वायुसेना करती है। यह दुनिया सबसे मारक लड़ाकू विमानों में से एक है। सिंगल सीटर यह फाइटर जेट अत्यधिक लंबी दूरी तक मार करने में सक्षम है।

जे-10 फाइटर जेट- इसे चीन ने निर्मित किया है। इस विमान को किसी भी मौसम में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह वजन में काफी हल्का है। इस विमान का उपयोग चाइना आर्मी करती है।

यह भी पढ़ें -   Tejas Fighter Jet: भारत के लिए तेजस क्यों महत्वपूर्ण है? जानिए तेजस की खूबियां

F-16 फाइटिंग फाल्कन- आधुनिक उपकरणों और क्षमताओं से लैस यह विमान दुनिया में सबसे खतरनाक लड़ाकू विमान है। पहले इसे अमेरिकी वायुसेना के एयर मिशन के लिए तैयार किया था। बाद में इसे आधुनिक तकनीक से लैस करके फाइटर प्लेन का रूप दिया गया।

तेजस फाइटर जेट- यह भारत का स्वदेशी फाइटर प्लेन है। इसे भारत की एचएएल कंपनी ने तैयार किया है। यह बेहद ही हल्का विमान है। तेजस फाइटर प्लेन चौथी पीढ़ी का सबसे खतरनाक फाइटर जेट है। सिंगल सीटर यह विमान किसी भी मौसम और किसी भी विपरीत परिस्थितियों में दुश्मन को धूल चटा सकता है। इस फाइटर जेट में दुनिया की एक मात्र सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें -   Fighter Aircraft in India: भारतीय वायुसेना के पास कितने प्रकार के लड़ाकू विमान मौजूद हैं?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *