टूट गया महागठबंधन, नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा

Major-alliance-Nitish-Kumar-resigns-from-CM's-post

पटना। पिछले काफी दिनों से बिहार की राजनीति में चल रहा विवाद अब होने को है। खबर है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया है। बुधवार शाम राज्यपाल से मिलकर उन्होंने इस्तीफा सौंप दिया। नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद 20 महीने का गठबंधन टूट गया है। खबरों के मुताबिक इस घटना के बाद लालू प्रसाद ने नीतीश कुमार पर धोखा देने का आरोप लगाया है।

Read Also: मुंबई में गिरी चार मंजिला इमारत, 12 की दर्दनाक मौत

इससे पहले राजद में से बात सामने आयी थी और कहा गया था कि बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे। जिसके बाद बुधवार को जयदू के विधायक दल की बैठक हुई। बाद में नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मुलाकात का समय मांगा था। राज्यपाल ने तुरंत ही समय दे दिया। मुलाकात के बाद नीतीश कुमार ने अपना इस्तीफा महामहिम को सौप दिया। इस्तीफे के बाद खुद पर आरोपों पर उन्होंने कहा कि हमने तेजस्वी से इस्तीफा नहीं मांगा, लेकिन लालू और तेजस्वी से यही कहा कि जो भी आरोप लगे हैं, उसे साफ करें।

यह भी पढ़ें -   आतंकी बुरहान की बरसी पर कश्मीर में कर्फ्यू, इंटरनेट सेवा बंद

Read Also: अब अभिनेत्री मधुबाला की मुस्कान भी खिलेगी मैडम तुसाड म्यूजियम में

नीतीश कुमार के इस कदम पर लालू प्रसाद ने मीडिया से कहा कि नीतीश ने कहा था मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे। न्होंने कहा, जेडीयू कोई थाना नहीं और जेडीयू के प्रवक्ता सीबीआई नहीं हैं। हमने संबंधित जांच एजेंसी को सफाई देने की बात कही थी। दरार इतना अधिक सामने आ गया कि लालू यादव ने नीतीश कुमार पर भी विभिन्न धाराओं के तहत लगे आरोपों की फेहरिस्त गिना डाली। लालू ने यहां तक कह दिया कि नीतीश कुमार पर हत्या का आरोप है। इसके तहत उन्हें जेल भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें -   खुशखबरी! अब पासपोर्ट बनाने ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा

Read Also: ओमपुरी के पांच ऐसे बयान जिसके कारण उनको माफी मांगनी पड़ी

बता दें कि बिहार में पिछले 15 दिनों से महागठबंधन को लेकर खींचतान चल रहा था। बेनामी संपत्ति मामले सीबीआई और अन्य मामले में ईडी के छापेमारी और दिल्ली में लालू के बेटे और बेटी की संपत्ति जब्त होने के बाद से ही महागठबंधन में कुछ ठीक नहीं चल रहा था। इस्तीफा देने के बाद नीतीश ने कहा ‘मैंने महामहिम से मुलाकात कर इस्तीफा सौंप दिया है। हमसे जितना हुआ उतना गठबंधन का धर्म निभाया। जनता के हित में काम किया।’

यह भी पढ़ें -   ये हैं बिहार के ऐसे नेता जिनकी राजनीति सबके समझ से परे है

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *