Black Pepper Benefits – काली मिर्च के फायदे, उपयोग और औषधीय गुण

Black Pepper Benefits - काली मिर्च के फायदे

काली मिर्च जिसे मरीच के नाम से भी कई जगहों पर जाना जाता है। काली मिर्च खाने के कई फायदे (Black Pepper Benefits) होते हैं। आमतौर पर इसे रसोई में खाने का स्वाद बढ़ाने और मसालों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। काली मिर्च को मसालों की रानी कहा जाता है। घर में कोई भी सब्जी बनाएं तो काली मिर्च डालने के बाद सब्जी का स्वाद तो बढ़ता ही है, साथ ही आपके स्वास्थ्य के लिए भी काली मिर्च को खाना फायदेमंद (Black Pepper Benefits) होता है।

खाने के साथ-साथ काली मिर्च को एक औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। भारत में लंबे समय तक काली मिर्च का औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। आज भी काली मिर्च के फायदे (Black Pepper Benefits) की बात करें तो लगभग सभी घरों में काली मिर्च को घरेलू इलाज के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

काली मिर्च के फायदे (Black Pepper Benefits) की और बात करें तो यह वात और कफ में काफी फायदेमंद होता है। काली मिर्च भूख को बढ़ाने में मददगार है। यह भोजन को पचाती है और लीवर को स्वस्थ भी बनाती है। काली मिर्च के अन्य फायदे (Black Pepper Benefits) में यह पेट दर्द की समस्या में भी राहत प्रदान करती है। पेट के कीड़ों को मारती है।

काली मिर्च तीखा होने के साथ-साथ गर्म प्रकृति की होती है। यह पेशाब को बढ़ाती है साथ ही इसे खाने के बाद मुंह में लार बनाती है जो पाचन क्रिया को आसान बनाती है। काली मिर्च का सेवन करने से शरीर के सभी विषाक्त तत्व बाहर निकल जाते हैं और हमारी शरीर बीमारियों से बचा रहता है।

यह भी पढ़ें -   चुकंदर खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जरूर जानना चाहिए
काली मिर्च का पौधा कैसा होता है?

काली मिर्च का पौधा बारहमासी होता है। काली मिर्च के पौधे की आयु 25 से 30 वर्ष की होती है। हालांकि कहीं-कहीं पर यह 60 वर्षों तक भी जीवित रहता है। काली मिर्च के पौधे छोटे वृक्षों की तरह होते हैं। इसकी पत्तियाँ चिकनी, अंडाकार होती हैं। इसकी खेती समुद्रतल से 1,070 मीटर की ऊँचाई तक होती है।

काली मिर्च की खेती की कहां-कहां होती है?

काली मिर्च का पौधा त्रावणकोर और मालाबार के जंगलों में बहुत ज्यादा मात्रा में उत्पन्न होता है। इसके अलावा इसकी काली मिर्च की खेती कोचिन, मैसूर, कुर्ग महाराष्ट्र और असम में भी की जाती है। काली मिर्च की खेती सालों भर होती है। जुलाई में इसपर फूल उगते हैं। काली मिर्च के फूल सफेद और हल्के पीले होते हैं। जनवरी से मार्च तक काली मिर्च के फल पककर तैयार हो जाते हैं।

काली मिर्च के फायदे – Black Pepper Benefits in Hindi

सर्दी खांसी करे दूर – काली मिर्च का सेवन करने से सर्दी के मौसम में खांसी और जुकाम से राहत मिलती है। इसके साथ-साथ यह गला भी साफ रखता है। काली मिर्च के सेवन से जुकाम के कारण बाल झरने की समस्या भी कम होती है।

चर्म रोग और मुहांसों में फायदेमंद – काली मिर्च खाने से मुंह में होने वाली मुहांसों से राहत मिलती है। यदि शरीर पर कहीं पर फोड़ा या फुंसी है तो काली मिर्च को पीसकर फोड़े वाली जगह पर लगाने से आराम मिलता है। हालांकि इसे लगाने से थोड़ी जलन हो सकती है।

डिप्रेशन को खत्म करता है – काली मिर्च में पिपराइन मौजूद होता है। साथी में इसमें एंटी-डिप्रिसेंट गुण मौजूद होते हैं। काली मिर्च खाने से यह गुण आपकी टेंशन और डिप्रेशन को कम करता है।

यह भी पढ़ें -   गले में खराश है तो अपनाएं यह टिप्स, खराश को कहें बाय-बाय

दातों की समस्या करे खत्म – काली मिर्च खाने से दांतों से जुड़ी बीमारियों में राहत मिलती है। मसूड़ों के दर्द में काली मिर्च खाने से बहुत जल्दी आराम मिलता है। इसके अलावा काली मिर्च, माजूफल और सेंधा नमक एक साथ मिलाकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण में सरसों तेल मिलाकर दांतों और मसूड़ों पर लगाकर आधे घंटे बाद साफ कर लें। इससे मसूड़ों और दांतों की समस्या दूर होगी।

गैस और एसिडिटी की समस्या का करें निदान – काली मिर्च के सेवन से आधुनिक जीवनशैली के कारण उत्पन्न गैस और एसिडिटी की समस्या में आराम मिलता है। यदि गैस की समस्या या एसिडिटी की समस्या है तो नींबू के रस में काला नमक और काली मिर्च का पाउडर मिलाकर खाएं। गैस और एसिडिटी की समस्या में तुरंत राहत मिलेगी।

हिचकी की समस्या करे दूर – काली मिर्च का सेवन करने से हिचकी की समस्या दूर होती है। इसके लिए हरे पुदीने की 30 पत्ती, 2 चम्मच सौंफ, मिश्री और काली मिर्च का चूर्ण एक गिलास पानी में उबालकर पीने से हिचकी की समस्या दूर होती है।

कैंसर से करे बचाव – काली मिर्च खतरनाक कैंसर जैसी बीमारी से भी आपको बचाता है। काली मिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, कारोटेन्स और अन्य एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। इसे खाने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है।

पेट के कीड़े का करे सफाया – काली मिर्च का पाउडर बनाकर खाने से पेट के कीड़े खत्म हो जाते हैं। इसके अलावा किशमिश के साथ काली मिर्च खाने से भी पेट के कीड़ों की समस्या से छुटकारा मिलता है।

यह भी पढ़ें -   रतौंधी की समस्या (Night Blindless Problem) क्या है और कैसे इसका इलाज करें?
काली मिर्च और घी के फायदे – Black Pepper and Ghee Benefits

खांसी की समस्या होने पर देसी घी में थोड़ी सी काली मिर्च का पाउडर मिलाकर गर्म करें। अब इसमें पीसी हुई मिश्री मिलाकर लगातार 2 से 3 दिन तक खाने से खांसी में आराम मिलता है।

रोजाना एक चम्मच घी और 8 काली मिर्च और उसके साथ शक्कर को मिलाकर सेवन करने से आपकी शक्ति में सुधार होता है और दिमाग की कमजोरी भी दूर होती है।

काली मिर्च और शहद खाने के फायदे – Black Pepper and Honey Benefits

काली मिर्च और शहद को एक साथ मिलाकर खाने से कई फायदे होते हैं। काली मिर्च के नियमित इस्तेमाल से कई गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

  1. काली मिर्च और शहद खाने से सर्दी-खांसी की समस्या और फ्लू की समस्या से छुटकारा मिलता है।
  2. काली मिर्च और शहद का सेवन करने से पेट की समस्याओं से छुटकारा मिलता है। यह पेट की गंदगी को बाहर निकालता है।
  3. काली मिर्च को शहद में मिलाकर सेवन करने से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है। एक चम्मच शहद में एक चुटकी काली मिर्च मिलाकर सेवन करना चाहिए।
  4. ब्लड शुगर के लेवल को भी काली मिर्च और शहद का मिश्रण से कम किया जा सकता है। डायबिटीज के खतरे को कम करने के लिए शहद और काली मिर्च का सेवन किया जाता है।
  5. काली मिर्च और शहद का सेवन करने से कोलेस्ट्ऱॉल का लेवल कंट्रोल में रहता है।

नोट – यह एक सामान्य जानकारी है। उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। जुड़े रहें हन्ट आई न्यूज के साथ