यूएस नेवी डिस्ट्रॉयर पर पहुंचा कोरोना, एक चौथाई नौसैनिक कोरोना से प्रभावित

यूएस नेवी डिस्ट्रॉयर

वाशिंगटन। अमेरिका के यूएस नेवी डिस्ट्रॉयर (यूएसएस किड) पर तैनात कुल नौसैनिकों में से लगभग एक चौथाई कोरोनावायरस संक्रमण की जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं। नौसेना के दो अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा, नेवी डिस्ट्रॉयर यूएसएस किड के 78 चालक दल सदस्य कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त हैं, जो कि जहाज के पूरक का लगभग 25 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करते हैं।

कैलिफोर्निया के सैन डिएगो स्थित नौसेना के एक अड्डे पर मंगलवार को वॉरशिप (युद्धपोत) को डॉक किया गया। चालक दल को अलग-थलग करने की प्रक्रिया की जा रही है और जहाज को यहां डिसइनफेक्टेड और क्लीन किया जाएगा।

विमान वाहक यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट के बाद यूएस नेवी डिस्ट्रॉयर किड कोविड-19 के प्रकोप के कारण बंदरगाह पर लौटने को मजबूर हुआ दूसरा यूएस नेवी शिप है। कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप से पहले किड को पूर्वी प्रशांत में हाल ही में काउंटर नारकोटिक्स मिशन को अंजाम देने के लिए तैनात किया गया था।

यह भी पढ़ें -   Pakistan in Punjab! केंद्र सरकार ने सेना और बीएसएफ को जारी किया रेड अलर्ट

पिछले हफ्ते यूएस नेवी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अमेरिका के एक प्रमुख मीडिया आउटलेट से कहा कि अमेरिकी नौसेना के 26 वॉरशिप पर कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं, जिनमें से 14 चालक दल कर्मी वायरस की चपेट में आए, जो अब स्वस्थ हो गए हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, 1 मई को अमेरिका में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1 मिलियन की संख्या को पार कर गया है। अमेरिका में कोरोना बिमारी से अबतक 63,107 लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में सबसे ज्यादा केस न्यूयॉक में है। यहां पर कोरोना के कुल 172,784 केस हैं। यहां पर 17,809 की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें -   निजामुद्दीन मरकज के लोग सीएए विरोधी और शाहीन बाग धरनों में होते थे शामिल

बता दें कि कोरोना वायरस का पहला प्रकोप चीन के वुहान शहर में पाया गया था। चीन के वुहान में सबसे पहले यह वायरस एक डॉक्टर के अंदर पाया गया था। बाद में उस डॉक्टर की मौत हो गई थी। वुहान के बाद आज कोरोना का कहर पूरी दुनिया में फैल चुका है। कोरोना का केस लगातार कई देशों को अपनी चपेट में लेता जा रहा है।

You May Like This!😊