असम की आग मुंबई तक पहुंची, MNS की मांग मुंबई में भी लागू हो एनआरसी

असम-की-आग-मुंबई-तक-पहुंची-mns-क

नई दिल्ली। असम में NRC ड्राफ्ट को लागू करने को लेकर सड़क से लेकर संसद तक हंगामा मचा हुआ है। इसकी आग मुंबई में भी देखने को मिली। महाराष्ट्र में भी असम की तरह ही एनआरसी लागू करने की मांग की जाने लगी है।

एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने मुंबई में भी इसे लागू करने की बात कही है। एमएनएस का आरोप है कि मुंबई में बड़ी तेजी से बांग्लादेशियों की संख्या बढ़ रही है।

बता दें कि सोमवार को असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) का दूसरा और अंतिम ड्राफ्ट सोमवार को जारी कर दिया गया है। असम में 2.89 करोड़ लोगों का नाम एनआरसी रिपोर्ट में शामिल है। जबकि इसमें नाम शामिल करने के लिए 3.29 करोड़ लोगों ने आवेदन दिया था।

यह भी पढ़ें -   सरकार ने चौथी बार बढ़ाई समय सीमा, अब इस तारीख तक करा सकेंगे आधार-पैन लिंक

वो…वो लड़की बहुत बड़ी हो गई…

उधर एनसीआर रिपोर्ट को लेकर राज्यसभा में चर्चा शुरु हो गई है। इस पर चर्चा के लिए सभी दलों को तीन-तीन मिनट का समय दिया गया है।

उधर एनसीआर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जिन लोगों का नाम नागरिकता रजिस्टर में नहीं है उनकी जांच सही तरीके से होनी चाहिए। कोर्ट ने कहा कि सभी को अपनी नागरिकता साबित करने के लिए समान अवसर मिलना चाहिए। कोर्ट ने कहा कि राज्य इसमें सही प्रक्रिया का पालन करे।

यह भी पढ़ें -   CBSE Board Exam: 1 से 15 जुलाई होंगी पूरी परीक्षाएं, जानें क्या है पूरा प्रोसेस

गौरतलब है कि असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर का दूसरा और आखिरी ड्राफ्ट जारी हो चुका है। इनमें 3.29 करोड़ आवेदकों में से 2.90 करोड़ आवेदक वैध पाए गए हैं। 40 लाख आवेदकों के नाम ड्राफ्ट से गायब हैं। पहला ड्राफ्ट पिछले साल दिसंबर के आखिर में जारी हुआ था।


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें