कोरोना वायरस: सीएम योगी की जनता से अपील, रात 9 बजे के बाद घर से न निकलें

कोरोना वायरस

लखनऊ। कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी वासियों से कोरोना वायरस के मद्देनजर अपील की है कि वह रात नौ बजे के बाद भी बाहर न निकले। उन्होंने कहा है कि जनता कर्फ्यू में लोगों के योगदान से न केवल उनका परिवार सुरक्षित रहेगा बल्कि पूरे समाज, राष्ट्र को भी स्वस्थ्य एवं सुरक्षित रखा जा सकता है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर 22 मार्च को सुबह 7 से रात्रि 9 बजे जनता कर्फ्यू लगाया गया था।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि आपने, जनता जनार्दन, व्यापारिक एवं सामाजिक संगठनों ने प्रधाानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू में अपनी सहभागिता की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं आप सबका हृदय से धन्यवाद देता हूं। महामारी का खतरा समाप्त नहीं हुआ है, बचाव अत्यंत महत्वपूर्ण है। रात्रि नौ बजे के बाद भी घर से बाहर न निकलें।

मुख्यमंत्री ने दूसरे ट्वीट में कहा कि आप के द्वारा इस संबंध में दिए जा रहे योगदान से न केवल आप और आपका परिवार सुरक्षित रह सकता है अपितु पूरे समाज, राष्ट्र को भी स्वस्थ और सुरक्षित रख सकते हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार सुबह कहा कि कोरोना वायरस को लेकर उपचार से महत्वपूर्ण पहलू बचाव का है। इसके खिलाफ लड़ाई में जागरूकता बचाव का सबसे बड़ा माध्यम हो सकता है। बचाव के लिए यह सारे प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने एहतियात के तौर पर कदम उठाये हैं। इसके लिए जितनी सावधानी बरतें, अच्छा है।

यह भी पढ़ें -   हिंदी पत्रकारिता के संवर्धन में प्रौद्योगिकी की भूमिका विषय पर वेब संगोष्ठी का आयोजन

उन्होंने कहा कि जनता कर्फ्यू जैसे कार्यकम के लिए आगे भी तैयार रहें। उन्होंने जनता से अपील की कि कोरोना वायरस से घबराये नहीं, बल्कि लड़ें। सरकार पूरी तरह उनके साथ है। किसी भी आवश्यक वस्तु की कमी नहीं होने दे जाएगी। इसका उपचार नि:शुल्क है। सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों के पोषण के लिए धनराशि की व्यवस्था की है। राशन का इंतजाम किया है। दो हजार से अधिक आइसोलेशन वार्ड बनाये गये हैं। इनकी संख्या दस हजार करने का लक्ष्य किया गया है।

यह भी पढ़ें -   शाहीन बाग प्रदर्शन: व्यवसासियों ने एसपी से लगाई गुहार, तीन महीने से बंद हैं दुकानें

मुख्यमंत्री योगी ने जनता से अपील की कि बाजारों में भीड़ न बढ़ाएं और सामान बेवजह नहीं इकट्ठा करें। उन्होंने व्यापारी, दवा कारोबारियों से भी अपील की कि वे जमाखोरी को बढ़ावा न दें। किसी भी सूरत में वास्तविक मूल्य से अधिक दाम पर वस्तुएं नहीं बेची जाए। इस तरह की शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। देश की इस लड़ाई में हर नागरिक की सहभागिता आवश्यक है। जनता कर्फ्यू में जिस तरह से आम जनता की सहभागिता देखने को मिल रही है, वह स्वागत योग्य है। कोरोना वायरस को परास्त करने में हम सफल होंगे।