बिहार सरकार 15 मई से 38 लाख परिवारों को राशन कार्ड देगी, दिशा-निर्देश जारी

बिहार सरकार

पटना। Bihar News: बिहार सरकार लॉकडाउन में रोजगार छिन चुके परिवारों के भरण-पोषण को ध्यान में रखते हुए 15 मई से बिहार के 38 लाख परिवारों को राशन कार्ड वितरित करेगी। बिहार सरकार के खाद्य विभाग ने राशन कार्ड वितरण के लिए तीन चरणों में राशन कार्ड उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है।

बिहार सरकार राज्य के 38 लाख परिवारों को राशन कार्ड देने का काम 10 जून तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है। राशन कार्ड उपलब्ध कराने के लिए सरकार से संबंधित इकाई को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। सरकार ने राशन कार्ड के वितरण के लिए कार्ड छपाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें -   बिहार में कोरोना संक्रमण फिर बढ़े, कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 320 के पार

खाद्य सचिव पंकज पाल के अनुसार, सबसे पहले आरटीपीएस के माध्यम से प्राप्त आवेदनों में स्वीकृत 11.51 लाख परिवारों को राशन कार्ड जारी किए जायेंगे। सरकार द्वारा इन्हें 15 मई तक राशन कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे। दूसरे चरण के आवेदन में स्वीकृत राशन कार्ड को 30 मई को जारी किया जाएगा। इस तरह के परिवारों की कुल संख्या 22.45 लाख के करीब है।

तीसरे चरण के लिए राज्य सरकार ने एनयूएलएम की तरफ से प्रदेश के सभी जिलों में चिन्हित 4.9 लाख परिवारों को कार्ड जारी किए जाएंगे। कार्ड जारी करने और कार्ड को आधार से लिंक करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बताया गया है कि सभी राशन कार्ड 10 जून तक सभी परिवारों को मुहैया करा दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें -   मायावती ने बीजेपी को सांपनाथ और कांग्रेस को नागनाथ कहा, गठबंधन से किया इंकार

बता दें कि राज्य सरकार ने 38 लाख परिवारों में से 34 लाख से अधिक परिवारों का आधार कार्ड लिंक किए जा चुके हैं। जानकारी के अनुसार, राज्य के बुजुर्ग राशनकार्ड धारकों को प्रत्येक महीने के पहले तीन तारीख तक राशन वितरित कर दिया जाएगा। इस संबंध में खाद्य विभाग ने सभी जिलों को डीएम को राशन कार्डधारकों के खाते में सहायता राशि भेजने को कहा है।

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से काफी संख्या में बाहर से मजदूर बिहार आए हैं। पहले से ही भोजन की मार झेल रहे मजदूरों के सामने घरों में भी राशन की समस्या उत्पन्न हो गई है। राज्य सरकार ने अब पहले से ही कार्ड धारकों के अलावा अन्य लोगों को नए कार्ड बनवाकर और परिवारों को चिन्हित कर राशन की सहायता राशि भेजने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें -   यूपी में कोरोना लॉकडाउन की निगरानी के लिए आईजी-डीआईजी की ड्यूटी