कोरोना वायरस से जंग – 7 दिन में दिखे यह लक्षण तो करवाएं जाँच

कोरोना वायरस से जंग

कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिए पूरी दुनिया अपनी-अपनी ताकत लगा रही है। दुनिया भर में कई रिसर्च संस्थान और लैब में कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बनाने का काम तेजी से चल रहा है। हालांकि फिलहाल इस मामले में कोई सकारात्मक सफलता हाथ नहीं लगी है।

लेकिन कोरोना वायरस से जंग की शुरुआत आप अपनी बुद्धिमानी और सतर्कता से भी कर सकते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण होने से पहले व्यक्ति के शरीर में कुछ खास बदलाव होते हैं। जिन्हें पहचान कर कोरोना वायरस से दूर रहा जा सकता है। आइए जानते हैं कि यदि 7 दिनों में यह लक्षण दिखे तो क्या करना चाहिए।

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज में सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार या वायरल फ्लू के लक्षण भी दिखाई देते हैं। ये सभी लक्षण आम दिनों में होने वाले सर्दी-जुकाम में भी होते हैं। इससे लोगों के अंदर संशय पैदा हो जाता है और कोरोना पकड़ से दूर रह जाता है। जाने-अनजाने इससे बीमार व्यक्ति आसपास के लोगों को भी कोरोना से संक्रमित कर देता है।

यह भी पढ़ें -   लॉकडाउन 4 में सरकार की तरफ से किन चीजों में राहत दी गई है? जानिए

जर्नल एनल ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार कोरोना से संक्रमित होने के बाद 5 दिनों में शरीर में खास तरह से लक्षण नजर आते हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक,

  • जिस व्यक्ति को कोरोना वायरस अपनी चपेट में ले लेता है उसे पांच दिनों के अंदर सूखी खांसी होने लगती है।
  • कोरोना के संक्रमण के बाद अचानक मरीज को तेज बुखार चढ़ने लगता है और शरीर का तापमान बहुत बढ़ जाता है।
  • संक्रमण होने के 5 दिनों के अंदर ही मरीज को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ों में बलगम जम जाता है। इससे सांस लेने में तकलीफ होती है।
  • इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति को बदन दर्द होता है। शरीर के अंगों में थकावट होने लगता है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को हमेशा कमजोरी महसूस होने लगती है।
यह भी पढ़ें -   कोरोना संकट के बीच ट्रेनों में बुकिंग आज से, जानें किराया, रूट और स्टॉपेज